मेडिकल स्टोर से रेमडेसिविर इंजेक्शन गायब, अस्पतालों को कंपनी से नहीं मिल रही सप्लाई

जागरणसंवाददाता,लुधियाना:कोरोनासंक्रमितोंकेइलाजमेंइस्तेमालहोनेवालेरेमडेसिविरइंजेक्शनकीभारीकमीहोगईहै।बाजारवअस्पतालोंमेंइंजेक्शननहींमिलरहेहैं।शहरकीपिडीस्ट्रीटस्थितहोलसेलमार्केटसेलेकररिटेलमेडिकलस्टोरोंसेरेमडेसिविरइंजेक्शननहींमिलरहेहैं।इसकेसाथहीअस्पतालोंमेंभीकंपनियोंकीसप्लाईनहींआरही।दवाकारोबारियोंवअस्पतालोंद्वाराकंपनियोंसेलगातारइंजेक्शनकीमांगकीजारहीहैं।बतायाजारहाहैकिरेमडेसिविरकीजमकरकालाबाजारीहोरहीहै।इसकीएवजमेंमरीजकेस्वजनोंसेएक-एकइंजेक्शनके20-30हजाररुपयेतकवसूलेजारहेहैं।

होलसेलमार्केटमेंदवाकास्टाकनहीं

लुधियानाडिस्ट्रिक्टकेमिस्टएसोसिएशनकेप्रेसिडेंटडा.जीएसचावलाकाकहनाहैकिहोलसेलमार्केटमेंरेमडेसिविरकास्टाकजीरोहै।कंपनियोंनेमार्केटमेंसप्लाईरोकदीहै,सीधेअस्पतालोंकोसप्लाईदीजारहीहै।हमेंमहाराष्ट्र,गुजरात,दिल्लीसहितदेशकेअलग-अलगराज्योंसेयेइंजेक्शनउपलब्धकरवानेकेलिएफोनआरहेहैं।दसदिनपहलेतकमार्केटमेंयेइंजेक्शनआसानीसेउपलब्धथे।

कंपनियोंसेनहींआरहीसप्लाई

फोर्टिसअस्पतालकीमेडिकलसुपरिंटेंडेंटडा.शैलीनेकहाकिरेमडेसिविरकेअलावाकोरोनाकेइलाजमेंइलाजमेंइस्तेमालहोनेवालीकईअन्यदवाएंभीहमेंनहींमिलरहीं।कंपनीसेसप्लाईहीनहींआरही।हमारेपासकोरोनाके46मरीजहै।रेमडेसिविरनहोनेकेकारणमजबूरीमेंउन्हेंसिम्टोमैटिकट्रीटमेंटदेरहेहैं।सेहतविभागकोइंजेक्शनकीकमीकेबारेमेंबतादियागयाहै।

50इंजेक्शनकीडिमांडपरमिलरहेपांच

मोहनदेईओसवालअस्पतालकेहेड(आपरेशंस)योगेंद्रअवधियानेकहाकिरेमडेसिविरकीशार्टेजचलरहीहै।हमकंपनियोंसेयहइंजेक्शनडायरेक्टमंगवातेहैं,लेकिनअबसप्लाईनहींआरहीहैं।अस्पतालमेंगंभीरमरीजलगातारआरहेहैं,जिन्हेंइसकीजरूरतहै।हमेंरोजाना50इंजेक्शनकीजरूरतहोतीहै,लेकिनकंपनियोंकीतरफसेकेवलपांचइंजेक्शनहीमिलरहेहैं।