मेडिकल कॉलेजों से बने नए डाक्टरों के लिए सरकार ने बड़ी शर्त, जानें क्‍या है मामला

चंडीगढ़,[अनुरागअग्रवाल]।हरियाणामेंडाक्टरोंकीकमीबड़ीसमस्याबनतीजारहीहै।डाक्टरोंकेअभावमेंसरकारीचिकित्सासेवाएंप्रभावितहोरहीऔरमरीजोंकोमजबूरीमेंप्राइवेटचिकित्सकोंकारुखकरनापड़रहाहै।इसकेमद्देनजरप्रदेशसरकारअबहरियाणाकेसरकारीमेडिकलकालेजोंमेंएमबीबीएसकीपढ़ाईकरनेवालेडाक्टरोंकेलिएकमसेकमदोसालतकराज्यकेअस्पतालोंमेंअनिवार्यरूपसेसेवाएंदेनेकाप्रावधानकरनेजारहीहै।

हरियाणामेंचिकित्सकोंकीकमीदूरकरनेकोराज्यसरकारतैयारकरपॉलिसी

प्रदेशकेस्वास्थ्यमंत्रीअनिलविजनेअधिकारियोंकोइसतरहकीपॉलिसीतैयारकरनेकेनिर्देशदिएहैं।बतादेंकिहालहीमेंप्रदेशसरकारनेमुख्यचिकित्साअधिकारियोंकोअनुबंधपरडाक्टररखनेकीअनुमतिदेनेकानिर्णयलियाहै।

यहभीपढ़ें:दसहजाररुपयेमेंबनजाएंगेएकएकड़जमीनकेमालिक,सरकारलानेजारहीबिल

राज्यमेंरोहतक,सोनीपत,मेवातकानल्हड़,करनालऔरहिसारकेअग्रोहामेंपांचसरकारीमेडिकलकालेजहैं।इनमें800सीटेंहैं।एमबीबीएसकीपढ़ाईपूरीकरनेवालेडाक्टरोंकेअनिवार्यरूपसेहरियाणामेंदोसालसेवाएंदेनेकेप्रावधानसेडाक्टरोंकीकमीनहींरहेगी।हरसालराज्यको800डाक्टरमिलसकतेहैं।इनडाक्टरोंकोयदिहरियाणासरकारकेवेतन,भत्तेऔरसुविधाएंपसंदआईतोवेअपनीसेवाएंबढ़ासकतेहैं,अन्यथाउन्हेंकिसीभीअस्पतालमेंअपनीसेवाएंदेनेकाअधिकारहोगा।राज्यमेंडाक्टरोंके550पदखालीहरियाणासरकारएकडाक्टरको60हजारऔरस्पेशलिस्टको75हजाररुपयेवेतनदेतीहै,जबकिप्राइवेटसेक्टरमेंयहएकलाखऔरसवालाखरुपयेहै।राज्यमेंडाक्टरोंकेकरीब2500पदहैं,जिनमेंसे550खालीचलरहेहैं।इनपदोंकोसरकारअनुबंधकेआधारपरभरनेकाइरादारखतीहै,लेकिनअभीइसप्रस्तावकोमुख्मयंत्रीकीमंजूरीमिलनीबाकीहै।

यहभीपढ़ें:अबपंजाबमेंभीबिहारके'चमकीबुखार'काअसर,दहशतसेटूटरहीकारोबारकीकमरभिवानी,जींद,गुरुग्रामऔरमहेंद्रगढ़मेंमेडिकलकॉलेजमंजूर

राज्यमेंप्राइवेटकालेजोंकीसंख्याछहहै।प्रदेशसरकारनेअपनेमौजूदाकार्यकालमेंभिवानी,जींद,गुरुग्रामऔरमहेंद्रगढ़केकोरियावासमेंचारमेडिकलकालेजबनानेकोमंजूरीदीऔरवर्कअलॉटकरदियाहै।हरजिलेमेंमेडिकलकालेजकालक्ष्य2022मेंहीपूराहोसकेगा।ऐसाखुदस्वास्थ्यमंत्रीअनिलविजकाभीमाननाहै।

------''राज्य मेंडाक्टरोंकीकमीहै।हमनेअनुबंधपरडाक्टररखनेकाप्रस्तावभीतैयारकियाहै।मगरयहसमस्याकाअस्थायीसमाधानहै।अबसरकारीकालेजोंमेंएमबीबीेसकीपढ़ाईपूरीकरनेवालेडाक्टरोंकोकमसेकमदोसालहरियाणाकेअस्पतालोंमेंसेवाएंदेनेकीपॉलिसीतैयारकररहेहैं।इसेमंजूरीकेलिएमुख्यमंत्रीकेपासभेजाजाएगा।राज्यमेंपांचसरकारीऔरछहप्राइवेटकालेजहैं,जबकिचारपरकामशुरूहोचुकाहै।एककालेजकेबननेपर500करोड़रुपयेखर्चहोतेहैं।ऐसेमेंहरजिलेमेंमेडिकलकालेज2022तकबनकरतैयारहोजाएंगे।                                                                                           -अनिलविज,स्वास्थ्यमंत्री,हरियाणा।

हरियाणाकीताजाखबरेंपढ़नेकेलिएयहांक्लिककरें

पंजाबकीताजाखबरेंपढ़नेकेलिएयहांक्लिककरें