मधुबनी जिला का एक ऐसा गांव जहां बारिश से ही आ गई बाढ़, घर छोड़ विस्थापित हुए कई परिवार

मधुबनी(बेनीपट्टी),जासं।बेनीपट्टीप्रखंडकेबसैठगांवमेंबारिशनेभयंकरतबाहीमचारखीहै।नदीकापानीअबतकगांवमेंप्रवेशनहींकरसकाहै,लेकिनगांवकेलोगपिछलेएकसप्ताहसेबाढ़कासामनाकररहेहैं।रुक-रुककरहोरहीझमाझमबारिशसेइनकीस्थितिसुधरनेकीजगहबिगड़तीहीजारहीहै।पूरागांवजलमग्नहोचुकाहै।जलनिकासीकीव्यवस्थाअबतकनहींहोनेसेग्रामीणकाफीआक्रोशितहैं।ग्रामीणोंकाकहनाहैकिएकसप्ताहसेपूरागांवनारकीयस्थितिझेलरहाहै,लेकिनस्थानीयप्रशासनयाजनप्रतिनिधियोंनेअबतकउनकीसुधिलेनाभीमुनासिबनहींसमझा।सबसेअधिकसमस्याबच्चों,महिलाओंवबुजुर्गोंकोलेकरहोरहीहै।मवेशियोंकोरखनामुश्किलहोगयाहै।उनकेलिएचारानहींहै।कईपरिवारकेलोगघरछोड़सार्वजनिकस्थलोंपरशरणलिएहुएहैं।कईपरिवारदूसरोंकेघरोंमेंरहनेकोमजबूरहैं।

एकसप्ताहसेबारिशकीबाढ़झेलरहागांव

बारिशकेपानीनेएकसप्ताहसेबसैठगांवमेंतबाहीमचारखीहै।गांवकेकरीबपांचसौसेअधिकघरोंमेंबारिशकापानीजमाहुआहै।गांवकीसड़केंपानीमेंडूबीहुईहैं।पीड़ितलोगप्रशासनवजनप्रतिनिधियोंकोभला-बुराकहकरअपनेगुस्सेकाइजहारकररहेहैं।बारिशनेलोगोंकीपीड़ाबढ़ादीहै,लेकिननिदानकीदिशामेंसार्थकपहलनहींहोनेसेलोगोंकाआक्रोशसातवेंआसमानपरहै।बारिशसेआईबाढ़नेलोगोंकाविवशकरदियाहै।

झीलबनेगांवकेटोले-मोहल्ले

गांवकेटोला-मोहल्लेवसड़केंझीलबनीहुईहै।जलनिकासीकेलिएपदाधिकारियोंवअधिकारियोंसेगुहारलगाईजारहीहै,लेकिनसमस्याकानिदाननहींहोरहा।लोगोंकेघर-आंगनपानी-पानीहैं।एकसप्ताहसेगांवमेंजलजमावरहनेसेमहामारीकीआशंकासेलोगभयभीतहैं।गांवकेचारोंओरबनीसड़कोंमेंजलनिकासीकेलिएकोईव्यवस्थानहींहोनेसेबसैठगांवकेसालोंसेबारिशकेदिनोंमेंदुर्गतीझेलरहेहैं।अबलोगोंकासब्रजवाबदेनेलगाहै।आक्रोशितग्रामीणअबसड़कपरउतरआंदोलनकाशंखनादकरनेकेमूडमेंहैं।पीड़ितलोगोंकाकहनाहैकिवोटकेसमयनेताआतेहैं,लेकिनजबमुसीबतआतीहैतोउनकेदर्शनदुर्लभहोजातेहैं।इधर,बेनीपट्‌टीबीडीओमनोजकुमारनेबतायाकिगांवकामुआयनाकियाजारहाहै।जलनिकासीकेलिएआवश्यकउपायकिएजाऐंगे।सीओवपुलिसकेसाथस्थलनिरीक्षणकियाजारहाहै।स्थितिजल्दनियंत्रणमेंहोगी।