मधेपुर का एक छात्र यूक्रेन से पहुंचा कोलकाता, दूसरा रोमानिया में फंसा

मधुबनी।यूक्रेनऔररूसकेबीचभंयकरयुद्धजारीहै।दोनोंदेशभारतसेकाफीदूरहैं,लेकिनइसयुद्धकाप्रभावयहांभीदेखाजारहाहै।खासकरयूक्रेनमेंपढ़नेवालेछात्रोंकेवहांफंसेहोनेसेउनकेस्वजनकाफीचितितहैं।मधेपुरप्रखंडकेभीदोछात्रइनमेंशामिलहैं।हालांकि,स्थानीयथानाकेकुर्सोगांवनिवासीराजकमलशशिधरकेपुत्रअनुभवचंडेल(21)वहांसेनिकलकरअपनेदेशपहुंचनेमेंसफलरहेहैं।उन्हेंभारतसरकारनेअपनेखर्चपरमुबंईतकलेआयाहै।वहांसेवेअपनेमाता-पिताकेसाथकोलकातापहुंचगएहैं।वेनेशनलपिरोगेवमेमोरियलयूनिवर्सिटी,विनेत्सामेंमेडिकलकेतृतीयवर्षकेछात्रहैं।वहीं,भेजाथानाकेरहुआ-संग्रामपंचायतअन्तर्गतइस्लामपुरगांवनिवासीमो.अब्बासकापुत्रशाहिदअब्बासयूक्रेनसेनिकलकररोमानियामेंभारतआनेकेलिएसंघर्षरतहैं।यूक्रेनसेनिकलकररोमानियापहुंचनाभीअभीकिसीयुद्धलड़नेसेकमनहींहै।पेशेसेशिक्षकशाहिदकेपितामो.अब्बासनेबतायाकिशाहिदपिछलेसाल11दिसम्बरकोहीनेशनलपिरोगेवमेमोरियलमेडिकलयूनिवर्सिटी,वेनेत्सागयाथा।वहप्रथमवर्षकाछात्रहै।इसबीचयुद्धशुरुहोगया।वहअपनेकॉलेजसे50छात्रोंकीटोलीसंगरोमानियाबोर्डरकेलिएनिकला,लेकिनरास्तादुश्वारियोंसेभराथा।कईकिलोमीटरलंबेजाममेंहाड़कंपादेनेवालीठंढ़मेंपैदलसफरकररोमानियापहुंचा।लेकिन,वहांभीकाफीपरेशानियांहै।युक्रेनकीकरेंसीरोमानियामेंनहींचलती।खाने-पीनेकासामानखत्महोगयाहै।स्थानीयलोगमददकररहेहैं।शाहिदकेअनुसारबुधवारतकभारतीयदूतावासकेअधिकारियोंसेसम्पर्कनहींहोपायाथा,लेकिनवहांरोमानियाकीराजधानीबुखारेस्टमेंहवाईअड्डाकेनिकटएकशेल्टरहोममें27फरवरीसेशरणलिएहुएहैं।मो.अब्बासनेबतायाकिमंगलवारकोमधेपुरसीओकोरोमानियामेंफंसेछात्रकालोकेशनउपलब्धकरवायागयाहै।इसेलेकरपरिवारकेलोगकाफीचितितहैं।बड़ेभाईमो.साजिदउनसेपल-पलकीजानकारीलेरहेहैं।