मायके में ही मैली हो रही गंगा-यमुना

जागरणसंवाददाता,उत्तरकाशी:देशभरकीआस्थाकाकेंद्रमानीजानेवालीगंगाऔरयमुनानदियोंकाउद्गमस्थलउत्तरकाशीजिलेमेंहै।इननदियोंकीस्वच्छताकेलिएकेंद्रऔरप्रदेशस्तरपरबड़ी-बड़ीबातेंहोरहीहैं।लेकिन,इननदियोंकेमायकेउत्तरकाशीजिलेमेंस्वच्छताकाठोसप्लानबनानेकीकवायदतकनहींकीजारही।भलेहीबजटखर्चकेनामपरविभिन्नसंगठनऔरसरकारीतंत्रअभियानतोचलारहेहैं।लेकिन,यहअभियानभीमहजजागरूकतातकहीसीमितहैं।जैविकऔरअजैविककूड़ेकेप्रबंधनपरकिसीकाध्याननहींहै।स्थितियहीहैकिकहींकूड़ाजलायाजारहाहैतोकहींनदियोंमेंगिरायाजारहाहै।

भागीरथीकेकिनारेबसाउत्तरकाशीशहरईकोसेंसटिवजोनमेंआताहै।साथहीगंगामेंप्रदूषणकोरोकनेकेलिएएनजीटीनेखासनिर्देशदिएहैं।लेकिन,उत्तरकाशीमेंइननिर्देशोंवनियमोंकोनगरपालिकानेताकपररखदियाहै।नगरपालिकाप्रशासनप्रतिदिन20-22कुंतलकूड़ाएकत्रकरताहै।लेकिन,इसकेप्रबंधनकेलिएकोईठोसइंतजामनहींहैं।बीती30नवंबरकोपालिकाप्रशासननेरामलीलामैदानसेकूड़ाउठाकरदेवीधारऔरनालूपानीकेबीचभागीरथीमेंउड़ेलदियाथा।मामलेमेंईओपरगाजगिरीहै।बावजूदइसकेस्थायीट्रें¨चगग्राउंडकीतलाशतकनहींकीजारहीहै।यहांतककिप्लास्टिककचराप्रबंधनकेलिएलगाईजानेवालीकॉम्पैक्टरमशीनभीआजतकनहींलगपाईहै।भलेहीपालिकानेइसमशीनकोलगानेकेनामपर20लाखखर्चकरदिएहैं।

पुरोला,चिन्यालीसौड़वनौगांवमेंनहींडं¨पगजोन:कूड़ेकीसमस्याकेवलनगरपालिकाबाड़ाहाटमेंहीनहीं,बल्किचिन्यालीसौड़,नौगांववपुरोलामेंभीस्थायीडं¨पगजोननहींहै।इननिकायोंमेंकूड़ेकाप्रबंधननहीं,बल्किकेवलठिकानेलगायाजारहाहै।नगरपंचायतपुरोलामेंकूड़ामोरीरोडकेकिनारेडालाजारहाहै।कुछयहीहालनगरपालिकाचिन्यालीसौड़काभीहै।चिन्यालीसौड़मेंभीकूड़ेकेलिएस्थायीडं¨पगजोनकाचयननहींहोपायाहै।

बड़कोटनेबचाईहैलाज

जनपदउत्तरकाशीमेंकेवलबड़कोटहीएकऐसानिकायहै,जहांकूड़ेकेलिएस्थायीडं¨पगजोनहै।यहांएकत्रकूड़ेकीछंटाईकीजातीहै।जिसकेबादजैविककूड़ेकोतिलाड़ीमार्गपरबनेट्रें¨चगग्राउंडमेंडालाजाताहै।जबकि,अजैविक(पॉलीथिनऔरप्लास्टिक)कूड़ेकोकॉम्पैक्टरमशीनमेंपहुंचायाजाताहै।इसेलेकरबड़कोटकेएसडीएमअनुरागआर्यनेबतायाकिएकसालकेअंतरालमेंप्लास्टिककूड़ेसेनगरपालिकाबड़कोटको62हजारकीआयहुईहै,जोलगातारबढ़तीजारहीहै।