Lok Sabha Election 2019: चुनाव का केंद्र रहे पीएम मोदी, कांग्रेस को भारी पड़ा व्यक्तिगत हमला

भवदीपकांग।आमचुनावकेनतीजोंसेएकबातशीशेकीतरहसाफहैकिएकशांत,अदृश्यमोदीलहरदेशभरमेंइसकदरछाईकिसबकुछउसमेंसमाहितहोगयाऔरनरेंद्रमोदीइंदिरागांधीकेबादऐसेपहलेप्रधानमंत्रीबनगएजिन्होंनेअपनेदमपरपूर्णबहुमतकेसाथलगातारदूसराकार्यकालहासिलकिया।मतदाताओंनेस्थिरताऔरनिरंतरताकेपक्षमेंवोटजरूरदिया,लेकिनसबसेबढ़करउसनेमोदीकोचुना।यहांतककिइसमोदीसुनामी-2.0मेंमजबूतगठबंधनएवंक्षेत्रीयदलभीटिकनहींसके।

मोदीकेइसज्वारमेंउत्तरप्रदेशमेंसपा-बसपा,महाराष्ट्रमेंकांग्रेस-राकांपाऔरबिहारमेंराजद-कांग्रेसगठबंधनकेपांवउखड़गए।आखिरवहकौन-सीरहस्यमयीशक्तिथी,जोजमीनपरकामकररहीथी?कुछदिनपूर्वभाजपाकेएकमहासचिवनेमुझसेकहाथा।आपआंकड़ोंपरमतजाइए,कैमिस्ट्रीदेखिए!उनकाआकलनथाकिदेशकेआमजनकेसाथमोदीकीजोकैमिस्ट्रीहै,जाति-आधारितगठबंधनउसकेमुकाबलेकहींनहींठहरते।औरदेखिए,आजउनकीबातसहीसाबितहोगई।

बालाकोटएयरस्ट्राइक,केंद्रमेंस्थिरसरकारकीदरकार,विपक्षकाएकजुटनहोपाना,कांग्रेसकीचौकीदारचोरहैकेइर्दगिर्दबुनीगईमूर्खतापूर्णरणनीतिजैसेतमामकारकोंकोएकसाथरखतेहुएभीइसबातकीव्याख्यानहींकीजासकतीकिआखिरकिसतरहमोदीफैक्टरसत्ताविरोधीरुझान,बेरोजगारी,किसानोंकीनाराजगीऔरनोटबंदीएवंजीएसटीकीवजहसेउपजेअसंतोषकोथामनेमेंकामयाबरहा।यहमोदीकाआममतदाताकेसाथसीधाजुड़ावहीहै,जिसकीवजहसेऐसेनतीजेआए।

इसतरहकाजुड़ावकिसीभीसांगठनिकढांचे(चाहेवहपार्टीहोयासरकार)सेमुक्तहोताहैऔरइसीलिएइसेआसानीसेपहचानाभीनहींजासकता।यहांतककिखुदपीएममोदीइनचुनावनतीजोंकोलेकरपूरीतरहआश्वस्तथे,वहभीतबजबकिपहलावोटभीनहींपड़ाथा।अप्रैलकेपहलेहफ्तेमेंहीउन्होंनेअपनेसलाहकारोंसेआगामीएनडीएसरकारकीपहले100दिनकीकार्ययोजनातैयारकरनेकेलिएकहाथा।इनचुनावनतीजोंकाप्रभावदुनियाभरमेंमहसूसकियाजाएगा।इसकेभू-राजनीतिक,सांस्कृतिकवआर्थिकप्रभावदक्षिणएशियाकापरिदृश्यबदलदेंगे।भारतमेंइननतीजोंकेबादवामसेलेकरदक्षिणतकसमूचाराजनीतिकस्पेक्ट्रमउलट-पुलटहोजाएगा।

आरएसएसकामोदीकोपूरेदिलसेसमर्थनकरनाऔरमोदी-केंद्रितमुहिमचलानासहीसाबितहुआ।आजयदिकोईऐसीमीमबनाताहैजिसमेंश्यामाप्रसादमुखर्जीऔरदीनदयालउपाध्यायस्वर्गसेमोदीपरफूलबरसारहेहैंतोउसकीभावनाएंसमझीजासकतीहैं।मोदीनेवहकरदिखायाहैजोमुखर्जीने1951मेंकहाथा।उसवक्तनेहरूनेकहाथाकिवेजनसंघकोकुचलदेंगे।मुखर्जीनेजवाबदियाथा-मैंइसकुचलनेवालीमानसिकताकोकुचलदूंगा।कहनाहोगाकिआजकांग्रेसकेसत्तामेंवापसीकेमंसूबेकुचलचुकेहैं।

हालांकिउसनेअपनीओरसेपूरीकोशिशकी।युवाओंकेलिएलाखोंनौकरियां,किसानोंकेलिएअलगसेबजटऔरगरीबोंकेलिएन्यूनतमआययोजनासमेतकईलुभावनेवादेकिए।लेकिनकांग्रेसकीविश्वसनीयताइतनीगिरचुकीहैकिमतदाताओंनेउसकेवादोंपरयकीननहींकिया।कांग्रेसअध्यक्षराहुलगांधीकीप्रधानमंत्रीमोदीपरव्यक्तिगतहमलेकरनेकीरणनीतिकीभीपार्टीकोभारीकीमतचुकानीपड़ी।वर्ष2002सेहीदेखागयाहैकिमोदीपरजितनेहमलेकिएजातेहैं,वहउतनेहीमजबूतहोकरउभरतेहैं।

आगामीहफ्तोंमेंकांग्रेससंगठनकेभीतरउठापठकमचेगी।उसमेंमजबूतनेतृत्वकीजरूरतशिद्दतसेमहसूसकीजारहीहै।राहुलगांधीएकअप्रभावीनेतासाबितहोचुकेहैं।उनकाइसचुनावमेंएकमात्रअक्लमंदीभराकदमकेरलकेवायनाडसेचुनावलड़नारहा,ताकिवेसंसदमेंअपनीएकसीटसुनिश्चितकरसकें।इसबातकीपूरीसंभावनाहैकिअबपार्टीप्रियंकाकीओररुखकरे।अन्यथाराज्यस्तरपरइसेबगावतकासामनाकरनापड़सकताहै।अगरमोदीमहारथीहैंतोअमितशाहउनकेमजबूतसारथीहैं,जिन्होंनेपूर्वीभारतकेनएक्षेत्रोंमेंपार्टीकापरचमलहरानेकाभरोसादिलायाऔरऐसाकियाभी।

अबदेशकेसामनेआगेकुछमुश्किलचुनौतियांहैं।मोदीइनचुनौतियोंसेअवगतहैंऔरअबजबकिवेवहएकबारफिरस्पष्टजनादेशहासिलकरचुकेहैं,लिहाजाअपनेढंगसेइनतमाममसलोंसेनिपटनेकीदिशामेंआगेबढ़सकतेहैं।नईएनडीएसरकारद्वाराहनीमूनपीरियडमेंहीऐसेव्यापकनीतिगतनिर्णयलिएजासकतेहैं,जिससेआर्थिकसुधारोंकाएकनयाचक्रशुरूहो।

(वरिष्ठपत्रकारएवंस्तंभकार)

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप