लक्ष्‍य से भटक रहीं योजनाएं, भूगर्भ का जलस्‍तर घटने के लिए सरकारी तंत्र जिम्‍मेदार

अलीगढ़,जागरणसंवाददाता।इसेसरकारीतंत्रकालापरवाहरवैयाकहेंयाकिसानोंकीमजबूरी,नलकूपोंकेजरिएहररोजलाखोंलीटरपानीभूगर्भसेनिकालाजारहाहै।सिंचाईकेलिएनहरोंसेपर्याप्तपानीनहींमिलपाता।फसलेंनलकूपोंपरनिर्भरहैं।2,75,895हेक्टेयरखेतोंकीसिंचाई65,420नलकूपोंसेहोतीहै।820तोसरकारीनलकूपहैं,बाकीनिजी।सिंचाईकेलिएभूगर्भसेकितनापानीनिकालाजाताहै,इसकाअंदाजाइसीसेलगासकतेहैंकिएकहेक्टेयरधानकीफसलकेलिए30से35लाखलीटरपानीचाहिए।यहां85,500हेक्टेयरधानकारकबाहै।अन्यफसलेंभीहैं,इनकेलिएभीपानीचाहिए।जितनापानीनिकालाजारहाहै,उससेआधाभीसंरक्षितनहींकियाजारहा।जलसंचयकीयोजनाएंकागजोंपरचलरहीहैं।

भूगर्भजलस्‍तरघटनेकेलिएसरकारीतंत्रजिम्‍मेदार

भूगर्भकाजलस्तरघटनेकेलिएसरकारीतंत्रभीजिम्मेदारहै।किसानोंकोसिंचाईकेलिएजबपानीकीआवश्यकताहोतीहै,तबनहर,रजबहासूखेरहतेहैं।बारिशइतनीहोतीनहींकिफसलोंकोपर्याप्तपानीमिलसके।ऐसीपरिस्थितियोंमेंकिसानोंकेपासनलकूपहीसुलभसाधनहोतेहैं।इन्हींनलकूपोंपरखेतोंकीसिंचाईनिर्भरहै।जनपदमेंधानऔरगेहूंप्रमुखफसलेंहैं।इनकेलिएभरपूरपानीचाहिए,जोनलकूपोंसेहीमिलपाताहै।सरकरीमहकमेसूक्ष्मसिंचाईकेसाधनोंकेप्रतिकिसानोंकोजागरूकनहींकरपारहे।खेततालाबयोजनाभीहरसाललक्ष्यसेभटकजातीहै।जबकि,जलसंकटकीसमस्यासेनिपटनेकेलिएसूक्ष्मसिंचाईऔरखेततालाबयोजनाबेहतरविकल्पहैं।जागरूककिसानइसेअपनाभीरहेहैं।ऐसे450किसान650हेक्टेयरमेंइसीतकनीकसेसिंचाईकररहेहैं।इससेभूजलकादाेहननहींहोताऔरफसलोंकोभीपर्याप्तपानीमिलजाताहै।

बेहतरहैसूक्ष्मसिंचाई

प्रधानमंत्रीकृषिसिंचाईयोजनाकेतहतकिसानोंकोसूक्ष्मसिंचाई(माइक्रोइरिगेशन)केसंयत्रलगानेकेलिएअनुदानदियाजारहाहै।जिलाउद्यानविभागकोइसवर्ष448हेक्टेयरकालक्ष्यमिलाहै।इसकेतहतड्रिपइरिगेशन(बूंद-बूंदसिंचाई)में287.0हेक्टेयरवमाइक्रोस्प्रिंकलर(सूक्ष्मफव्वारा)प्रणालीमें161.0हेक्टेयरमेंसूक्ष्मसिंचाईसयंत्रलगाएजानेहैं।इससे60प्रतिशततकपानीकीबचतहोतीहै।योजनाकेतहतलघुवसीमांतश्रेणीकेकिसानोंको90फीसदवसामान्यश्रेणीकेकिसानोंको80फीसदअनुदानडीबीटीकेमाध्यमसेदियाजाताहै।

जयसंचयकीयोजनाएं

नलकूपोंसेअत्यधिकपानीनिकालाजारहाहै।सिंचाईकेलिएसूक्ष्मसिंचाईप्रणालीबेहतरविकल्पहै।इससेजलदोहनतोरुकताहीहै,किसानोंकीलागतभीकमआतीहै।किसानोंकोइसकेलिएप्रेरितकियाजारहाहै।कुछजागरूककिसानइसेअपनाभीरहेहैं।

धीरेंद्रसिंह,जिलाउद्यानअधिकारी