लिवर का रखें ख्याल, हेपेटाइटिस का न होने दें वार

मेरठ,जेएनएन।हेपेटाइटिसकेअधिकांशमामलेअचानकरक्तकीजांचकरानेयाकिसीअन्यसमस्याकीजांचकरानेपरसामनेआतेहैं।हेपेटाइटिस-बीवसीखासतौरपरसाइलेटकिलरकीतरहलिवरकोधीरे-धीरेनुकसानपहुंचाताहै।कईबारइससेबीमारमरीजकीहालतबिगड़नेपरहीइनकापताचलताहै।मेडिकलकालेजकीहेपेटाइटिसओपीडीमेंमेरठकेआसपासकेकुछइलाकोंसेआनेवालेमरीजोंमेंहेपेटाइटिस-बीवसीकेसामान्यसेकुछअधिकमामलेहैं।ऐसेमेंइसेलेकरसतर्कताबरतनीजरूरीहै।

हेपेटाइटिसबीमारीकीअनभिज्ञताखत्मकरनेकेलिएहरसाल28जुलाईकोविश्वहेपेटाइटिसदिवसमनायाजाताहै।मेडिकलकालेजकेमेडिसिनविभागकेसहायकप्रोफेसरडा.अरविंदकुमारकाकहनाहैकिलिवरशरीरकेसबसेअहमअंगोंमेंएकहै।हेपेटाइटिसदूषितखानपानऔरअसुरक्षितव्यवहारजैसेहेपेटाइटिसग्रसितद्वाराइस्तेमालकीहुईसुई-ब्लेड,कैंचीप्रयोगआदिसेसबसेज्यादाखतरारहताहै।हेपेटाइटिसबीवसीअसुरक्षितव्यवहारकीवजहसेहोताहै।इसेग्रामीणलोगकालापीलियाकेनामसेजानतेहैं।उन्होंनेबतायाकिहेपेटाइटिसएक्यूटऔरक्रानिकदोप्रकारकाहोताहै।एक्यूटहेपेटाइटिसपीलियाकीतरहहोकरकुछसमयबादठीकहोजाताहै,लेकिनक्रानिकहेपेटाइटिसमरीजकोलंबेसमयतकप्रभावितकरताहै।अगरसमयरहतेइसकापतानचलेतोसिरोसिसवकैंसरतकहोनेकीआशंकारहतीहै।पीलियाकेलक्षणदिखाएदेनेपरफौरनचिकित्सकीयपरामर्शलेनाचाहिए,क्योंकिअधिकांशमामलेएसिम्टोमैटिकहोनेसेमरीजइससमस्यासेअनजानरहताहै।ऐसेमेंबीमारीकादायराऔरबढ़नेसेमरीजकीसमस्याबढ़जातीहै।हेपेटाइटिसकेकुछलक्षणजैसेभूखकमहोना,थोड़ाकामकरनेपरहीथकानमहसूसहोना,आंखोंमेंपीलापन,त्वचामेंपीलापनआदिसेइसेपहचानें।मेडिकलकालेजमेंविशेषतौरपरहेपेटाइटिसबीवसीकेउन्मूलनकेलिएसरकारकीपहलसेउपचारवजांचनिश्शुल्कउपलब्धहै।हेपेटाइटिस-बीवसीकोलेकरकीजनजागरूकता

विश्वहेपेटाइटिसदिवसकोलेकरमेडिकलकालेजमेंबुधवारकोमेडिसिनविभागकीओरसेजनजागरूकताकार्यक्रमचलायागया।मेडिकलकालेजकेछात्रोंकोसेमिनारमेंअधीक्षक(एसआइसी)डा.एनकेतिवारीकीअगुवाईमेंहेपेटाइटिसबीमारीकेबारेमेंविस्तारसेजानकारीदीगई।साथहीमेडिकलविभागसेमेडिसिनओपीडीवअन्यओपीडीसेहोकरएकजागरूकतारैलीनिकालीगई।इसदौरानडा.योगितासिंह,डा.संध्या,डा.श्वेता,डा.स्नेहा,डा.विनोदत्यागीआदिमौजूदरहे।

अनियंत्रितखानपानबंदकरस्वस्थरखेंलिवर:हेपेटाइटिसअर्थातलिवरमेंसूजनवर्तमानसमयमेंबड़ीसंख्यामेंलोगोंकोपीड़ितकररहाहै।खराबजीवनशैली,अनियंत्रितखान-पान,शराबकेअधिकसेवनसमेतअनेककारणोंसेविभिन्नफैटीलिवर,लिवरकाबढ़ना,लिवरमेंसूजन,लिवरकाकमकामकरनाआदिसमस्याएंहोरहीहैं।यहकहनाहैआयुकेयरआयुर्वेदमल्टीस्पेशलिटीहास्पिटलकेडा.धन्वंतरित्यागीका।उन्होंनेबतायाकिलिवरप्रभावितहोनेपरपाइल्स(बवासीर)रोगकीआशंकासर्वाधिकहोतीहै।दर्दनिवारक,कब्जनाशकदवाइयों,एसिडिटीकीदवाइयोंकेअंधाधुंधसेवनसेलीवरपरकाफीदबावपड़ताहैतथाजिससेगुर्देकोअधिककामकरनापड़ताहै।यदिऐसीस्थितिलगातारबनीरहेतोगुर्देकमकामकरनेलगतेहैं।इसकेअतिरिक्तवायरस(हेपेटाइटिसवायरस)केकारणभीलिवररोगहोजातेहैं।छात्रोंकोहेपेटाइटिसरोगकेबारेमेंकियाजागरूक:बुधवारकोकंकरखेड़ास्थितएमडीपैरामेडिकलवमैनेजमेटइंस्टीट्यूटकेपरिसरमेंहेपेटाइटिसदिवसकेउपलक्ष्यमेंएकपरिचर्चाआयोजितकीगई।इसमेंसंस्थानकेकायचिकित्सकडा.रविदत्तभाटियानेमुख्यवक्ताकेतौरपरहेपेटाइटिसकेविभिन्नप्रकारकेबारेमेंजानकारीदी।इसदौरानसंस्थानकेछात्रवअन्यचिकित्सकमौजूदरहे।संस्थानकेचेयरमैनडा.मनीषपाठकनेइसरोगकीरोकथामकोलेकरविस्तारसेजानकारीदी।इसदौरानसंस्थानकीप्रचार्याडा.दिव्यापाठक,सृष्टिनैन,सुमितसिंह,लाइबासिद्दीकीआदिमौजूदरहे।