लेखाधिकारी कार्यालय में बाबू राज, शिक्षक दौड़ने को मजबूर

गोंडा:बेसिकशिक्षाविभागकेलेखाधिकारीकार्यालयमेंबाबूगिरीहावीहै।यहांवेतनसेलेकरएरियरवअन्यवित्तीयकार्यकोकरानेकेलिएदौड़नापड़ताहै।आलमयहहैकिहरमहीनेकीएकतारीखकोवेतनमिलनाचाहिएलेकिन,अबतकभुगताननहींकियाजासकाहै।इससेअध्यापकशिक्षणकार्यछोड़करकार्यालयकाचक्करलगानेकोविवशहैं।इसकोलेकरउनमेंआक्रोशभीपनपरहाहै।बेसिकशिक्षाविभागकेपरिषदीयशिक्षकोंकोसमयसेवेतनकीआसरहतीहैताकिवहराशनसेलेकरमकानकिरायाआदिकाचुकासकें।शासनस्तरसेभीधनराशिआवंटितकरदीजातीहैलेकिन,यहांभुगताननहींनिर्धारितसमयमेंभुगताननहींहोपाताहै।लेखाधिकारीब्लॉकोंसेसंशोधननमिलनेकीबातकहतेहैं।इससबकेबीचछहहजारशिक्षकपरेशानीकासामनाकरतेहैं।उनकेएरियरबेसिकशिक्षाविभागसेमिलनेकेबादलेखामेंलटकजाताहै।समस्याओंकोलेकरशिक्षकनेताप्रशासनिकअधिकारियोंसेमिलकरशिकायतकरचुकेहैं।बावजूदइसकेसुधारनहींहोरहाहैऔरसमस्याजसकीतसबनीहुईहै।

कोईसुननेवालानहींहै

-वित्तएवंलेखाधिकारीबेसिककार्यालयमेंशिक्षकोंकीसुनवाईनहींहोतीहै।वेतनकेलिएभटकनापड़ताहै।आमशिक्षकवेतनकाहालनहींपूछसकतेहैं।कार्यालयबाबुओंकेसहारेहै।जिससेदिक्कतहोरहीहै।

-विनयकुमारतिवारी,जिलामंत्रीप्राथमिकशिक्षकसंघ

कईविभागोंकाचार्ज

-बेसिकशिक्षाविभागकेसाथहीजिलापंचायतवस्वास्थ्यविभागकेलेखाअनुभागकाअतिरिक्तप्रभारहै।जिससेदिक्कतहोतीहै।किसीप्रकारकीमनमानीनहींहै।जिसबाबूकीशिकायतमिलेगी,उसपरकार्रवाईकीजाएगी।वेतनभुगतानकरवारहेहैं।

-मनोज¨सह,वित्तएवंलेखाधिकारीबेसिकशिक्षा।