लाखों रुपये खर्च, फिर भी खाली हैं गो आश्रय केंद्र

महराजगंज:जिलेकेबृजमनगंजविकासखंडकेग्रामपंचायतपिपरास्थितगोआश्रयमेंएकभीजानवरनहींहैं।साढ़ेतीनएकड़भूमिपरबनेआश्रयमेंमहज10फीटकागड्ढाऔरउसकेबगलमेंमिट्टीकाढेरहै।जानवरकीबातकरेंतोएकभीजानवरनहींहैं।फिरभीग्रामपंचायतसेकार्यपूर्णदिखाकर14लाखसेअधिकधननिकाललियागयाहै।यहीनहींपुरानेपड़ेकांजीहाउसकोउसीमेंजोड़अतिरिक्तधननिकासीहुईहै।सबसेबड़ीबातयहहैकिगोशालामेंएकभीपशुदिखाईनहींदेरहेंहैंऔरतोऔरकागजमेंमौजूदगायहरमाहहजारोंरुपयेकाभूसा,पानी,चोकरवदवाएंखाजारहींहैं।मुख्यविकासअधिकारीपवनकुमारअग्रवालनेकहाकिउन्हेंजानवरोंकीजानकारीनहींहै,लेकिनसरकारीयोजनाओंमेंहेराफेरीकरनेवालोंकीजांचहोगी।