कुशेश्वरस्थान पूर्वी दियारा के 40 गांवों में कष्टदायक जीवन

दरभंगा।समस्तीपुरलोकसभा(सुरक्षित)केअंतर्गतहैकुशेश्वरस्थानपूर्वी।इसकाआधासेअधिकआबादीदियाराक्षेत्रमेंहै।आजादीकेबादसेआजतकयहइलाकाविकाससेकोसोदूरहै।दियाराक्षेत्रकेलोगआजकेबदलतेदौरमेंभीकठिनजीवनजीनेकोमजबूरहैं।यहलोकसभाक्षेत्रचारजिलोंसहरसा,खगड़िया,समस्तीपुरऔरदरभंगाकेअंतिमछोरपरस्थितहै।यहांकेलोगोंकोपूरेवर्षकईसमस्याओंकोझेलनापड़ताहै।कभीबरसाततोकभीसुखाड़कीमारझेलनीपड़तीहै।कोसी,कमला,बलानऔरकरेहनदीकेसंगमतटपरबसेकुशेश्वरस्थानकेदियाराक्षेत्रमेंकरीबचालीसगांवहै।लगभग25280हेक्टेयरमेंदियाराकाक्षेत्रफलहै।करीब50हजारआबादीहै।इन्हेंसबसेकष्टदायकजीवनबाढ़केसमयमेंझेलनापड़ताहै।प्रत्येकवर्षयहांकेकईलोगकीमौतबाढ़कीवजहसेहोतीहै।बड़ामुद्दामेंदियारेकीपड़तालकरतीकुशेश्वरस्थानपूर्वीसेप्रशांतकुमारकीरपट।सड़कसेआजभीवंचितहैआधीआबादी।

2011कीजनगणनाकेहिसाबसेकुशेश्वरस्थानपूर्वीप्रखंडकीआबादी128724है,जिसमेंमहिला60857एवंपुरुष67867हैं।इसमेंआधीआबादीदियारामेंरहतीहै।बाढ़केबादभीदर्जनोंगांवऐसेहैं,जहांकेवाशिदेपूरेवर्षनावकेसहारेजीवनव्यतीतकरनेकोमजबूरहैं।दियारामेंसिर्फमोटरसाइकिल,साइकिलऔरट्रैक्टरकीहीसवारीहोतीहै।यदिकुशेश्वरस्थानबाजारएवंआसपासकेगांवोंकोछोड़दियाजाएतोपूरेदियारामेंसड़कसंपर्कसेहजारोंलोगवंचितहैं।खेतोंकीपगडंडियोंकेसहारेलोगप्रखंडमुख्यालयतकआतेजातेहै।इसकईनदियोंमेंनावसेपारकरतेहैंयाफिरनदीमेंपानीकमहोनेकेकारणबांसकीचचरीकानिर्माणकरनदीपारकरतेहैं।स्वास्थ्यऔरशिक्षासुविधाओंकाअभाव:

दियाराकेलोगबेहतरस्वास्थ्यसुविधाओंसेवंचितहैं।बीमारहोजानेपरखटियापरलादकरपीएचसीतकलायाजाताहै।यहांएकप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्र,कोलाएवंसुघराईनमेंअतिरिक्तप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्रएवं11उपस्वास्थ्यकेंद्रहै।ज्यातादरउपस्वास्थ्यकेंद्रदियाराइलाकेमेंहैं।यहांनतोडॉक्टरहोतेहैंऔरनहींएएनएम।झोलाछापडॉक्टरोंसेचिकित्साकरानेकीमजबूरीबरकरारहै।अपनाइलाजकरानेकेलिएमजबूरहैं।शिक्षाकानहींहैकोईपुरसाहाल:

इलाकेमेंशिक्षाकाभीकोईपुरसाहालनहींहै।शिक्षकअपनीसुविधाकेहिसाबसेविद्यालयचलातेहैं।आधासेअधिकविद्यालयकागजहीसंचालितहै।अधिकारियोंकायहांतकपहुंचपानाआसाननहींहोताहै।इसवजहसेशिक्षाकीगुणवत्ताभगवानभरोसेहै।सरकारीआंकड़ोंमेंदोउच्चविद्यालय,पांचउत्क्रमितमाध्यमिकविद्यालय,28मध्यविद्यालयएवं50

प्राथमिकविद्यालयसंचालितहैं।रोजमर्राकीजरूरतोंकेलिएखगड़ियावसहरसापरनिर्भरता:

कुशेश्वरस्थानदियाराकातिलकेश्वरएवंतिलकपुरगांवसमस्तीपुरएवंखगड़ियाजिलेकेपासहै।यहांकेलोगबाजारकरनेकेलिएखगड़ियाएवंअलौलीआतेजातेहैं।येगांवसेकुछदूरीपरहैं।गैजोरी,बुढि़यासुकरासीकीसीमासहरसाजिलेसेसटीहै।यहांकेलोगअपनीरोजमर्राकीजरूरतोंकेलिएसहरसापरनिर्भरहैं।इनगांवोंकेलोगोंकोकुशेश्वरस्थानआनेकेलिएकोसीएवंकरेहनदीपारकरनीहोतीहै।जबकिसहरसाखगड़ियाआसानीसेपहुंचजातेहैं।दियारेमेंअपराधियोंकाबोलबाला:

ग्रामीणोंकीमानेंतोतीनजिलेकीसीमाहोनेकीवजहसेदियारेमेंअपराधियोंकाबोलबालारहताहै।हालांकिपहलेकीअपेक्षायहांअपराधियोंकीसंख्याएवंआपराधिकघटनाओंमेंकमीजरूरआईहै।लेकिन,इनकीधमकअबतककायमहै।चारोंओरनदीहोनेसेकभीयहांअपराधियोंकागढ़हुआकरताथा।किसीघटनाकोअंजामदेकरअपराधीअबभीदियारामेंपनाहपातेहैं।क्योंकिप्रशासनकायहांतकपहुंचनाइतनाआसाननहींहोता।जबतकप्रशासनिकअधिकारीयहांपहुंचतेहैं,बदमाशदियाराकाफायदाउठाकरभागनेमेंसफलहोजातेहैं।दियाराक्षेत्रमेंएकथानाऔरएकहीओपीहै।क्षेत्रकीभौगोलिकबनावटकेहिसाबसेदोओपीकीआवश्यकतामहसूसहोतीहै।फिलहालसहरसाकेकाजलयादवउर्फकाजलपहलवानऔरझाझाकेगणेशगिरोहसक्रियतादियारेमेंहै।जनप्रतिनिधियोंकानहींहोताहैदर्शन:बुढि़यासुकरासी,गैजोरी,सिमरटोका,झाझा,कोदरासहितदर्जनोंगांवऐसेहैंजहांकेलोगोंनेअपनेजनप्रतिनिधिकोदेखातकनहींहै।कोईनेतादियारामेंनातोवोटमांगनेआतेहैंऔरनहीजीतनेकेबादकभीझांकने।जहांतकमोटरसाइकिलआसानीसेजातीहैवहांतकनेताजीवोटमांगनेआतेहै।यहांसिर्फचुनावकरानेवालोंलोगआतेहैऔरचुनावकराकरवापसचलेजातेहैं।गांवकेमानिदलोगोंकेकथनानुसारवोटकाप्रचलनहै।उजुआसिमरटोकाकीमुखियाशर्मिलादेवीकहतीहैं-कुछगांवऐसेहैंजहांजानेकेलिएतीननदियोंकोपारकरनापड़ताहै।किसीनेइसक्षेत्रकेविकासकेबारेमेंसोचाहीनहींहै।कुछकामहुआभीहैतोपंचायतस्तरसेही।प्रत्येकवर्षमनरेगासेसड़कपरमिट्टीडालकरसड़ककोचलनेयोग्यबनायाजाताहै।बाढ़आनेपरउसकानामोनिशानमिटजाताहै।

कहतेहैंलोग:सड़क,शिक्षाऔरस्वास्थ्यहोगामुख्यमुद्दाहमारेसांसदकाघरभीयहांसेकुछहीदूरीपरस्थिततिलकेश्वरऔरतिलकपुरकेबीचसहरबन्नीमेंहै।परदियाराक्षेत्रमेंझांकनेनहींआएहैं।इसबारकेचुनावमेंहमलोगोंकामुख्यमुद्दासड़क,शिक्षाऔरस्वास्थ्यकाहोगा।दियाराक्षेत्रइनसुविधाओंसेसौप्रतिशतवंचितहै।

--प्रहलादभारती,तेगछाइसक्षेत्रकेविकासकेलिएजगह-जगहछोटीबड़ीपुल-पुलियाकीजरूरतहै।बाढ़यहांकीप्रमुखसमस्याहै।कुशेश्वरस्थानफुलतोड़ासड़ककामुख्यमंत्रीतीनतीनबारशिलान्यासकिएपरआजतककार्यनहींकियागया।इसकानिर्माणहोजाताहैतोदियाराकेलोगोंकीअधिकतरसमस्याओंकानिदानहोजाएगा।

--परमजीतकुमार,गोलमागांवकेचारोंतरफनदीहै।बाढ़केसमयघरसेनिकलनामुश्किलहोजाताहै।शौचालयतकआंगनमेंहीकरनापड़ताहै।ऐसालगताहैकिबदलतेजमानेमेंआदिमानवकाजीवनजीरहेहैं।सरकारकीकोईभीसुविधाहमलोगोंतकनहींपहुंचपातीहै।

--महेंद्रसदा,बुढियासुकरासी

यहांशिक्षाऔरस्वास्थ्यकाघोरअभावहै।आधासेअधिकविद्यालयतोकागजोंपरसंचालितहै।यातायातकासाधननहींहै।हमारेपंचायतकाएकगांवगैजोरीहैजहांआजभीपहुंचनाआसाननहींहै।इसगांवमेंजानेकेलिएतीननदीकोपारकरनापड़ताहै।

--श्यामबिहारी,तेगछा।