कुपोषण से बचाने को बच्चों के लिए आया पुष्टाहार जर्जर गोदाम में, अब बच्चे नहीं, गिलहरी और चूहे हो रहे 'पुष्ट'

बागपत,जागरणसंवाददाता।अपनेदेशकेचूहेभीशायदखानेपीनेकेबहुत'शौकीन'होगएहैं।कभीथानेकेमालखानेसे'पेटीकीपेटीशराबपीजाएंगे'तोकभी'सरकारीराशनहीचट'करजाएंगे।अबतोगिलहरीभीउनकासाथनिभानेलगीहैं।हदतोयहहैकिसरकारीअफसरानअपनीकमीपरपर्दाडालनेकेलिएचूहोंऔरगिलहरीकासहारालेनेलगतेहैं।कुछऐसाहीमामलाबड़ौतमेंदेखनेकोमिला।यहांकुपोषितबच्चोंकेलिएआयापुष्टाहारजर्जरगोदाममेंबर्बादहोरहाहै।इसपुष्टाहारकोचूहेऔरगिलहरीखारहेहैं।अधिकारीऐसीव्यवस्थानहींकरपारहेजिससेपुष्टाहारकोबर्बादहोनेसेबचायाजासके।

बड़ौतक्षेत्रमें384आंगनबाड़ीकेंद्रहैं,जिनपरजीरोसेछहसालकेलगभग21,896बच्चेपंजीकृतहैं,जिन्हेंपुष्टाहारभेजाजाताहै।जिलेमें22सौसेअधिककुपोषितवअतिकुपोषितबच्चेहैं।पहलेतोसरकारनेहीबच्चोंकेलिएनवंबर2021कापुष्टाहारफरवरी2022मेंभेजा।अबइसेबालविकासपरियोजनाकेजर्जरगोदाममेंचूहेऔरगिलहरीखारहेहैं।ऐसाबालविकासपरियोजनाकीअधिकारीऔरकर्मचारियोंकीलापरवाहीसेहोरहाहै।चूहोंनेगोदाममेंरखेप्लास्टिककेबैगकुतररखेहैं,जिनमेंसेनिकलादलियाफर्शपरबिखरापड़ाहै।लोगोंकाकहनाहैअधिकारियोंकीइसलापरवाहीकाखामियाजाबच्चोंकोभुगतनापड़रहाहै।बालविकासपरियोजनाकापुष्टाहारनगरकेजिसगोदाममेंरखाहै,वहबेहदजर्जरहोगयाहै।दरवाजेमेंचूहे,गिलहरी,बिल्लीआरामसेघुसजातेहैंऔरपुष्टाहारकोखानेकेसाथहीनष्टभीकररहेहैं।यहभीसंभवहैकिबिखरापुष्टाहारकट्टोंमेंडालकरबच्चोंतकभेजदियाजाए।इससेबच्चोंकोनुकसानभीहोसकताहै।

नवंबरकापुष्टाहारफरवरीमेंआयाथा,जिसेआंगनबाड़ीकेंद्रोंकोभेजदियागयाहै।चार-पांचकट्टेगोदाममेंरखेहैंउसेभीजल्दभेजदियाजाएगा।होसकताहैकिइक्कादुक्काचूहाघुसगयाहोऔरकुछपुष्टाहारकोखागयाहो।

-शारदा,सीडीपीओ