कटे जा रहे जंगल में हरे पेड़, सुरक्षा का दावा खोखला

महराजगंज:पर्यावरणपरमंडरारहेसंकटकोदेखतेहुएजहांशासनद्वाराबड़ेपैमानेपरपौधरोपणकरायाजारहाहै।वहींधनकेलोभीवनमाफियाकीमतीपेड़ोंकासफायाकरनेसेबाजनहींआरहेहैं।लोगोंकीमानेतोयदिइसीतरहपेड़ोंकीकटानचलतीरही,तोवहदिनदूरनहींजबजंगलपूरीतरहसेउजाड़होजाएंगे।कड़ाकेकीठंडवघनेकोहरेकाफायदाउठाकरवनमाफियाकाफीसक्रियहोगएहैं।उनकेइसकाममेंजंगलकेसमीपबसेगांवोंकेलकड़ीचोरभीमुख्यसहयोगीबनेहुएहैं।यहांभोरहोतेहीदर्जनोंलोगसाइकिलपरआरा,कुल्हाड़ीवरस्सालेकरजंगलमेंप्रवेशकरजारहेहैं,औरमधवलियारेंजकेगनेशपुरऔरमनिकापुरबीटवचौकउत्तरीरेंजकेघोड़हवाबीटकेकीमतीपेड़ोंकोनिर्दयतापूर्वकधराशाईकरनेमेंजुटजारहेहैं।फिरकटानकिएगएपेड़ोंकेबोटेतैयारकररातकेअंधेंरेमेंगनेशपुर-बरगदवामार्गसेसाइकिलटेंपोंवपिकअपगाड़ियोंमेंभरकरसरहदकेसमीपबसेनौतनवा,सोनौली,श्यामकाट,सुंडी,भगवानपुर,खनुआ,छितवनिया,खैरहवादुबे,पड़ौली,झिगटी,मुजहनाआदिगांवोंमेंकुछगुप्तस्थानोंपरजमाकरदेरहेहैं।वहांसेलकड़ियोंकोमुंहमांगेदामपरगंतव्यतकपहुंचादेरहेहैं।ऐसानहींहैकिपेड़ोंकेविनाशकीजानकारीवनकर्मियोंसहितनौतनवा,सोनौली,बरगदवावपरसामलिकथानेकीपुलिसकोनहींहै।डीएफओपुष्पकुमारकेनेकहाकिकिसीभीकीमतपरपेड़ोंकीअवैधकटानकरनेवालोंकोबख्शानहींजाएगा।इसमेंअगरकिसीवनकर्मीकेसंलिप्तताकीशिकायतमिलीतोजांचकरकार्रवाईकीजाएगी।