कतलाहेड़ी में पेंशन के लिए भटक रहे बुजुर्ग

संवादसूत्र,कतलाहेड़ी:गांवमेंवृद्धासम्मानभत्तानमिलनेसेबुजुर्गपरेशानहैं।बुजुर्गोंकाकहनाहैकिबैंकोंमेबुढापापेंशनप्रत्येकमहीने15तारीखतकआजातीहै,मगरठेकेदारकभीभीसमयपरपेंशननहींदेतेहैं।गांवकी70फीसदपेंशनठेकेदारोंद्वारादीजातीहै।बैंकपेंशनआतेहीदेदेतेहैंजबकिठेकेदार30तारीखतकभीपेंशनकाबंटवारानहींकरतेहैं।बुजुर्गअजमतलालसिंह,बलजीत,शयामो,प्रेमसिंह,राजबल,जसमतनेरोषव्यक्तकरतेहुएकहाकिठेकेदारउन्हेंचक्करकटातेरहतेहैं।बुजुर्गोंनेअपनीपेंशनकोबैंकद्वारादेनेकीमांगकीहै।वहीं,पेंशनठेकेदारअमितकाकहनाहैकिएचडीएफसीबैंकमेंतकनीकीदिक्कतआनेसेबुढ़ापापेंशननिकालनेमेंदिक्कतआईहै,जल्दहीपेंशनबांटदीजाएगी।