कोरोना से अनाथ हुए 149 बच्चों का ब्योरा पोर्टल पर अपलोड, मिलेगी आर्थिक मदद : आंचल

कोरोनामहामारीमेंअनाथहुएबच्चोंकीमददकेलिएसरकारआगेआईहै।ऐसेबच्चोंकाब्योराएकत्रितकरनेकेलिएसर्वेभीकियाजारहाहै।जिलेमेंऐसेकितनेबच्चोंकाडाटाविभागकेपासपहुंचचुकाहै।सरकारकिसतरहऐसेबच्चोंकीमददकरेगीवबालसंरक्षणकोलेकरक्या-क्याकदमउठाएजारहेहैं।इसकेअलावाविभागसेजुड़ीअन्यगतिविधियोंकोलेकरसंवाददातासंजीवकांबोजनेजिलाबालसंरक्षणअधिकारीआंचलत्यागीसेबातचीतकी।सवाल:सरकारनेकोरोनाकेकारणअनाथहुएबच्चोंकीआर्थिकमददकानिर्णयलियाहै।जिलास्तरपरक्याकार्रवाईहै?

जवाब:कोरोनाकेकारणअनाथहुएबच्चोंकासर्वेचलरहाहै।अबतक149केसपोर्टलपरअपलोडकिएजाचुकेहैं।आइसीडीसीएरियामेंआंगनबाड़ीकार्यकर्तावनानआइसीडीएसएरियामेंनगरनिगमकोयहजिम्मासौंपागयाहै।सवाल:बच्चोंकीदेखभालवसंरक्षणकेक्षेत्रमेंजिलाबालसंरक्षणयूनिटकीओरसेक्याप्रयासकिएजारहेहैं?

जवाब:जरूरतमंदबच्चोंकीदेखभालवसंरक्षणकेलिएविभागकीओरसेबालदेखभालकेंद्रचलाएजारहेहैं।कोरोनाकालसेपहलेकरीब200बच्चेइनकेंद्रोंमेंरहेहैं।लेकिनइनदिनोंकुछबच्चोंकोघरभेजदियाहै।हमाराप्रयासहैकिहरजरूरतमंदबच्चेकोसंरक्षणमिले।सवाल:बच्चेकोगोदलेनेकेलेनेकीप्रक्रियाक्याहै?

जवाब:इसकेलिएयातोजिलाबालसंरक्षणअधिकारीकार्यालयमेंसंपर्ककरें।आवश्यकदस्तावेजचेककरवाएं।याफिरविभागकीवेबसाइटकाराडाटनिकडाटइनपरआनलाइनआवेदनकरें।डब्ल्यूडब्ल्यूअडोप्शनइंडियाडाटकामपरभीआवेदनकियाजासकताहै।कुछआवश्यकऔपचारिकताओंकोपूराकरबच्चेकोगोदलियाजासकताहै।उनकोबच्चादिखायाजाताहै।सामाजिकवआर्थिकस्तरकीभीजांचकीजातीहै।सवाल:बेटीबचाओ-बेटीपढ़ाओअभियानकेकितनेसकारात्मकपरिणामसामनेआएहैं?

जवाब:बेटीबचाओबेटीपढ़ाओअभियानकीगूंजहरतरफहै।सरकारभीइसदिशामेंसख्तहै।अब53रेडहोचुकीहैं।लिगानुपातकीबातकीजाएतो2011में1000लड़कोंकेपीछे826लड़कियांथी।अबसंख्याबढ़कर950होगईहै।लोगोंकीमानसिकतामेंभीबदलावआयाहै।संताननहोनेकीस्थितिमेंपहलेबेटोंकोगोदलियाजाताथा,लेकिनअबबेटियोंकोभीगोदलेनेकेलिएहाथआगेबढ़रहेहैं।यमुनानगरमेंऐसेदर्जनभरसेअधिकमामलेसामनेआचुकेहैं।सवाल:यौनशोषणकेमामलेबढ़रहेहैं,इसकेलिएकौनकसूरवारहैऔरकिसप्रकारइनमामलोंपरअंकुशलगायाजासकताहै?

जवाब:सोचमेंविकृतिऐसेमामलोंकाकारणबनतीहै।ऐसीघटियामानसिकताकेलोगकोईऔरनहींबल्किसमाजकाहीहिस्साहोतेहैं।सोचमेंबदलावजरूरीहै।हमारीअपनीसभ्यतावसंस्कृतिहै,इसकोनहींभूलनाचाहिए।परिवर्तनकीबयारमेंसंस्कारोंकोनभूलें।अभिभावकवअध्यापकभीबच्चोंकीगतिविधियोंपरध्यानरखें।नजरअंदाजनकरें।बचपनसेहीउनकीबातकोसुनेंवसमझें।बच्चोंमेंआत्मविश्वासपैदाकरेंताकिवेअपनीबातखुलकरबतासकें।सवाल:वनस्टापसेंटरपरकिसतरहकीसुविधाएंदीजारहीहैं।

जवाब:वनस्टापसेंटरपरघरेलुहिसायाकिसीभीतरीकेसेपीड़ितमहिलाओंकोकानूनीसहायताप्रदानकीजातीहै।उनकोयहांपांचदिनतकरखाजाताहै।स्टाफकाउंसलिगभीकरताहै।आरोपितोंकोबुलाकरबातचीतकीजातीहै।हमाराप्रयासरहताहैकिपीड़िताकोइंसाफमिले।