कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, बदला लोगों का व्यवहार

हरिहरगंजमेंसड़कोंपरपसरारहताहैसन्नाटा,लोगहुएहैंजागरूकसंवादसूत्र,हरिहरगंज(पलामू):कोरोनामहामारीकीआक्रामकवजानलेवाबनीदूसरीलहरसेलोगभयभीतहोरहेहै।कोरोनासंक्रमणकेइसभयावहखतरेनेलोगोंकाव्यवहारवविचारकोबदलदियाहै।प्रखंडमेंयहबदलावअबदिखनेलगाहै।लोगगमछेयामास्कसेनाक,मुंहढंकेअधिकतरसड़कोंपरनजरआनेलगेहैं।देरराततकगुलजाररहनेवालीसड़कोंपरदिनकेतीनबजेकेबादसन्नाटापसरजाताहै।बाजारमेंलेन-देनमेंलोगनेटबैंकिगकेप्रयोगकेसाथनकदीलेन-देनसेपरहेजकररहेहैं।कोरोनाकेतीव्रप्रकोपसेबचनेकेलिएशारीरिकदूरीकापालनभीकियाजानेलगाहै।कोरोनासेबचावकेलिएयहआवश्यकभीहै।शहरसहितगांवोंमेंभीअतिथिवशुभचितकोंकीआवाजाहीकमहोगईहै।हालातयहहैकिलोगमेहमाननवाजीसेभीकतरानेलगेहैं।गांवकेलोगबाजारोंवसड़कोंमेंघूमनेकेबजाएअबघरोंमेंअपनेस्वजनोंकेसाथरहनापसंदकररहेहैं।स्थानीयसमाजशास्त्रीविजयमिश्रा,अरविदपांडेयवगौतममिश्राबतातेहैंकिकोरोनाकायहसंक्रमणकालसामाजिकबदलावकाकारणबनेगा।संक्रमणसेपहलेकासामान्यजीवनकोलौटनेमेंअभीवक्तलगेगा।लोगोंकेव्यवहारवविचारमेंकईपरिवर्तनकेसाथकार्यसंस्कृतिबदलजाएगी।कोरोनानेलोगोंकीदिनचर्याबदलकररखदीहै।जीवनशैलीकेसाथरिश्तोंमेंभीबदलावदेखनेकोमिलरहाहै।संक्रमणकेभयनेबहुतकुछबदलकररखदियाहै।