कोरोना की दूसरी लहर ने किसी को नहीं बख्शा, हर आयु वर्ग के लोगों की टूटी सांस

पानीपत[राजसिंह]। पानीपतमेंकोरोनासंक्रमणनेकिसीआयुवर्गकेनागरिककोनहींबख्शाहै।खासकरदूसरीलहरमेंकमआयुकेलोगोंकोशिकारबनायाहै।28मईतक504मरीजदमतोड़चुकेेहैं।बातएकजनवरीसे28मई2021कीकरेंतो279कीमौतहुईहै,इनमें88महिलाएंहैं।करीबपांचमाहमें20सालसेकमआयुवर्गकेतीनमरीजोंकीमौतहुईहै।91सालसेअधिकआयुवर्गमेंएकमौतहुईहै।मृतकोंमें33फीसदऐसेरहे,जिन्हेंकोरोनाकेअलावाकोईबीमारीनहींथी।

आयुवर्गमृतकोंकीसंख्या

2020मेंहुईथी147माैतें

मार्चसेदिसंबर2020तक161059सैंपललिएगएथे।इनमेंसे10514पाजिटिवकेसआएथे।225(25मृत्युप्रतिमाह)मरीजोंकीमौतहुईथी।वर्ष2021में28मईतक279(55.8मृत्युप्रतिमाह)हुईहैं।यानि,मौतकाआंकड़ादोगुनाहोचुकाहै,जबकिमहीनेमेंतीनदिनकेआंकड़ेजुड़नेबाकीहैं।

ऐसेखत्महोगाकोरोना