कोरोना के खिलाफ जंग में आईआईटी, बेनेट यूनिवर्सिटी के प्रस्तावों को सरकार ने किया मंजूर

नईदिल्लीकोविड-19के'सुरक्षितऔरकारगरबायोमेडिकलसोलूशंस'कोतत्कालविकसितकरनेकेलिएबायोटेक्नॉलजीडिपार्टमेंटने70प्रस्तावोंकोसरकारकेपासफंडिंगकेलिएआगेबढ़ायाहै।येप्रस्तावआईआईटी,बेनेटयूनिवर्सिटी(बेनेटयूनिवर्सिटीटाइम्सग्रुपकाहिस्साहै),जेएनयूजैसेअलग-अलगसंस्थानोंसेमिलेहैं।येप्रस्तावकोरोनावायरसकीवैक्सीनविकसितकरनेसेलेकरचिकित्साउपकरणों,कोविड-19कीजांचऔरइसकेइलाजसंबंधीतरीकोंसेजुड़ेहुएहैं।इनप्रस्तावोंमें10वैक्सीनसेजुड़ेहुएहैंतो34डायग्नोस्टिक्सप्रोडक्ट्सयानीजांचसेजुड़ेहैं।10प्रस्तावऐसेहैंजिनमेंइलाजकेतरीकोंकेबारेमेंसुझायागयाहै।2प्रस्तावपहलेसेमौजूदकिसीअन्यबीमारीकीदवाओंकाकोविड-19मेंइस्तेमालकोलेकरहैं।इसकेअलावा14ऐसेप्रॉजेक्ट्सहैंजोकोरोनाकेरोकथामऔरबचावसेजुड़ेहुएहैं।देशमेंकोरोनाकेसकीबढ़ीसंख्या,पूरीलिस्टबेनेटयूनिवर्सिटीकाप्रस्तावडायग्नोस्टिक्ससेजुड़ाहुआहैयानीइसमेंकोरोनाकीजांच,उसकेलक्षणोंकीपड़तालवगैरहशामिलहैं।एकअधिकारीनेबताया,'बेनेटयूनिवर्सिटीकाप्रस्तावडायग्नोस्टिक्स(SARS-CoV-2न्यूक्लिकएसिडकातत्कालपतालगानेकेलिएफ्लूरोसेंसऔरइलेक्ट्रोकेमिस्ट्रीकाइस्तेमाल)सेजुड़ाहुआहैजोदेशमेंटेस्टिंगकीजरूरतोंकोपूराकरसकताहै।'अबभारतमेंकोरोनावैक्सीनकीतैयारीशुरूएकअधिकारीनेबतायाकिसाइंसऐंडटेक्नॉलजीमिनिस्ट्रीनेकहाहैकिडिपार्टमेंटऑफबायोटेक्नॉलजी(DBT)औरबायोटेक्नॉलजीइंडस्ट्रीरिसर्चअसिस्टेंसकाउंसिल(BIRAC)नेबेनेटयूनिवर्सिटीकेप्रस्तावसमेतदूसरेप्रस्तावोंकोमंजूरकियाहै।अलग-अलगसंस्थानोंसेडिपार्टमेंटकोकईप्रस्तावमिलेथेजिनकामूल्यांकनकियागयाऔरजोमुफीदलगे,उन्हेंमंजूरीदीगई।अधिकारीनेकहाकिप्रस्तावोंकाडायग्नोस्टिक्सकीदीर्घकालीनजरूरतोंकेमद्देनजरमूल्यांकनकियागया।अधिकारीनेबतायाकिऐसाइसलिएकियाजारहाहैताकिकोरोनाकीजांचकेलिएपूरीतरहदेसीतरीकाविकसितहोसके।अधिकारीनेबताया,'यहकोविड-19डायग्नोस्टिक्सकेपूर्णस्वदेशीकरणकोसुनिश्चितकरनेकेलिएकियाजारहाहै।इसकेतहतशैक्षिकसंस्थानोंकोवित्तीयमदददीजाएगीताकिनिकटभविष्यमेंस्वदेशीडायग्नोस्टिककिट्सकीकमीनहो,यहसुनिश्चितहोसके।'DBTऔरBIRACसेमंजूरीपानेवालेडायग्नोस्टिककैटिगरीकेअन्यप्रस्तावोंमेंजेएनयू,आईआईटीदिल्लीऔरआईआईटीगुवाहाटीकेभीप्रस्तावशामिलहैं।येप्रस्तावबड़ेपैमानेपरस्क्रीनिंगसेलेकरपेपरमाइक्रोफ्लूइडिक्सतकनीक,ऑप्टोइलेक्ट्रॉनिकडिवाइसेजआदिसेजुड़ेहैं।अंग्रेजीमेंइसस्टोरीकोपढ़नेकेलिएयहांक्लिककरें