कोरोना के खिलाफ जंग के लिए एक रुपये में तैयार हो रहा हथियार

मुंगेर।लौहनगरीजमालपुरकीचारमहिलाएंकोरोनासेजंगकेलिएहथियार(मास्क)बनारहीहैं।चारोंहरदिन250मास्कतैयारकररहीहैं।इसकीकीमतमहजएकरुपयेहै।

डीहजमालपुरएवंअवंतिकारोडनिवासीपूनमकुमारी,अंजूकुमारी,पिकीदेवीऔरप्रमिलादेवीनेकोरोनावायरसजैसीवैश्विकमहामारीमेंघरपरहीरहकरगरीबऔरअसहायलोगोंकेलिएकपड़ेसेनिर्मितमास्ककानिर्माणशुरूकिया।ऐसाकरचारोंअन्यमहिलाओंकोसंदेशदेरहीहैंकिवेभीघरपरहीरहकरलॉकडाउनकेबावजूदभीलोगोंकीमददकरसकतीहैं।इसकेलिएकहीबाहरजानेऔरसरकारीनिर्देशोंकीअवहेलनाकरनेकीकोईआवश्यकताभीनहींहै।

मास्ककीहुईकालाबजारीतोसंभालीकमान

कोरोनाकेकेससामनेआएतोबाजारसेमास्कगायबहोगए।कालाबाजारीभीशुरूहोगई।लोगोंकोमास्कढूंढ़ेसेनहींमिलरहेथे।शहरवासीपरेशानहोगए।इसीबीचचारोंमहिलाओंनेमास्कबनानेकाकामशुरूकरदिया।अबतकतीनहजारसेअधिकमास्कबनाचुकीहैं।

एसआइहारुणमुस्ताकऔरडॉ.मनीषनेहौसलोंकोदीउड़ान

पूनमदेवीकेपतिअमितकुमारभागलपुरसेसमानलाकरउसेदुकानदुकानबेचकरअपनेपरिवारकाभरणपोषणकरतेहैं।वहीं,पिकी,प्रमिलाऔरअंजूकेपतिभीमजदूरीकरअपनेपरिवारकाभरणपोषणकरतेहैं।वहीं,चारोंमहिलाओंकेपासअपनीसिलाईमशीनहै।जिससेवहसिलाईकटाईकरअपनेअपनेपरिवारकेभरणपोषणमेंपतियोंकासहयोगकरतीथी।लॉकडाउनघोषितहोनेकेबादसिलाईकटाईकाकामभीलगभगबंदहोगया।वहीं,अमितकुमारडॉ.मनीषकेसाथजरूरतमंदकीमददकरनेकेलिएनिकलतेथे।डॉ.मनीषऔरएसआइहारूणमुस्ताकअपनेस्तरसेमास्कखरीदकरगरीबोंकेबीचवितरितकररहेथे।जबमास्ककीकालाबाजारीशुरूहुई,तोअभियानमेंपरेशानीआनेलगी।तबमहिलाओंनेमास्कतैयारकरनेकाजिम्माउठाया।एसआइहारूणमुस्तकाऔरडॉ.मनीषनेमहिलाओंकोकपड़ा,रबड़आदिउपलब्धकराए।मास्कतैयारकरनेवालीमहिलाओंकोडॉ.मनीषनेपारिश्रमिकदेनेकीपेशकशकी।लेकिन,महिलाएंतैयारनहींहुई।महिलाओंनेकहाकिविपदाकीइसघड़ीमेंलोगोंकीमददकरनाहमलोगोंकाभीफर्जहै।बादमेंडॉ.मनीषनेमहिलाओंकोप्रत्येकमास्कएकरुपयेलेनेकेलिएराजीकरलिया।