किसानों ने की नहरों में पानी छोड़ने की मांग

संस,मानसा:भारतीयकिसानयूनियनएकताउगाराहानेपंजाबसरकारकेनहरीविभागसेमांगकीहैकिपिछलेएकमहीनेसेबंदपड़ीकोटलाब्रांचनहरमेंतुरंतपानीछोड़ाजाए।जत्थेबंदीकेजिलाप्रधानराम¨सहभैनीबाघानेकहाकिइतनीलंबीनहरबंदीहोनेकेकारणबरनालामानसाऔरब¨ठडाजिलाक्षेत्रकेकिसानपरेशानहोरहेहैं।

उन्होंनेकहाकिआषाढ़कीमुख्यफसलगेहूंकीबिजाईकासीजनगुजररहाहैमगर¨सचाईकरनेकेलिएसमयपरपानीनहींमिलरहा।इसकारणबिजाईलेटहोगी।इसकासीधाप्रभावगेहूंकेझाड़परपड़ेगा।उन्होंनेकहाकिनहरीविभागहमेशाहीफसलोंकीबिजाईकेमौकेपरनहरबंदीकरदेताहै।उन्होंनेबतायाकिनरमेकीबिजाईकेसमयपरनहरबंदीकरदीगईथी।इससेकिसानोंकानुकसानहुआऔरअबयहीहालगेहूंकीबिजवाईसमयनहरीविभागकररहाहै।किसाननेतानेकहाकिजहांकिसानोंकेखेतनहरीपानीनहींमिलनेकारणसूखेपड़ेहैंवहीवाटरवर्कसद्वारास्पलाईहोरहापीनेवालापानीकास्तरभीकमहोगयाहै।ऐसेमेंशीघ्रहीनहरोंमेंपानीछोड़ाजाए।

ਪੰਜਾਬੀਵਿਚਖ਼ਬਰਾਂਪੜ੍ਹਨਲਈਇੱਥੇਕਲਿੱਕਕਰੋ!