किसानों को मधु मक्खी पालन का प्रशिक्षण दिया

संवादसहयोगी,बरनाला

गुरुअंगददेववेटरनरीवएनीमलसाइंसेजयूनिवर्सिटीलुधियानाकेकेवीकेद्वारामधुमक्खीपालनसिखलाईकोर्सएसोसिएटडायरेक्टरप्रह्लादसिंहतंवरकीअगुआईमेंलगायागया।शहदकीमक्खीपालनकार्यमेंस्वरोजगारकीबेहदसंभावनाएंहैं।केवीकेमेंशहदप्रोसेसिगप्लांटलगायागयाहै।जिसमेंकिसानशहदकीप्रोसेसिगकरसकतेहैंवउसकेबादशहदकीपैकिगकरकेअधिकमुनाफाकमासकतेहैं।यहांसेट्रेनिगलेकरकिसानमधुमक्खीपालनमेंबढि़याकार्यकररहेहैं।जिसमेंकईकिसानोंकेपास300से1200मधुमक्खियोंकेबक्सेभीहैं।उन्होंनेकिसानोंकोसलाहदीकिस्वसहायतासमूहबनाकरकिसानअधिकमुनाफाकमासकतेहैं।उन्होंनेकृषिविज्ञानकेंद्रद्वाराचलाईजारहीस्कीमोंसंबंधीबताया।यदिकिसानोंकोइसधंधेमेंकोईसमस्याआतीहैतोवहकेवीकेसेसंपर्ककरसकतेहैं।इसट्रेनिगदौरानकमलदीपसिंहमठाड़ूनेशहदकीमक्खियोंकीप्रजातियों,मौसमीसंभाल,रानीमक्खीकाजीवनचक्कर,मक्खियोंकीखुराकवशहदनिकालनेसंबंधीजानकारीदी।डा.हरजोतसिंहसोहीनेविभिन्नमौसमोंमेंमिलनेवालेफूल-फलोंसंबंधीजानकारीदी।कार्यप्रमुखट्रेनिगमेंतीनजिलोंसे46किसानों,महिलाओंवबेरोजगारयुवाओंनेभागलिया।

बच्चोंकोपौधोंसेप्रापतहोनेवालेभोजनकीजानकारीदी

स्थानीयबीवीएमइंटरनेशनलस्कूलमेंसातवींवआठवींकक्षाकेछात्रोंकोगतिविधिकेमाध्यमसेपौधोंवजानवरोंसेप्राप्तहोनेवालेभोजनसंबंधीजानकारीदीगई।इसगतिविधितहतबच्चोंकोसंतुलितभोजनसंबंधीबतायागया।सभीबच्चेअपनेघरोंसेविभिन्नपदार्थलेकरआएजोहमेंपौधोंवजानवरोंसेमिलतेहैं।इसकेअलावाअध्यापिकानेबच्चोंकोपीपीटीकेद्वारापौधोंकेविभिन्नभागोंवउनकेउपयोगसंबंधीबताया।बच्चोंनेअच्छे-अच्छेचार्टतैयारकिएवबच्चोंनेउन्हेंबेहदअच्छेसेविस्तारपूर्वकसमझाया।इसगतिविधिकोध्यानसेदेखावअध्यापिकाओंसेप्रश्नभीपूछे।उन्होंनेबच्चोंकोसंतुलितभोजनकरनेवजंकफूडसेदूररहनेकोकहा।स्कूलप्रिसिपलनेबतायाकिपौधेहमारेलिएकितनेआवश्यकहैं।वृक्षोंकीदिन-प्रतिदिनहोरहीअंधाधुंधकटाईसेवातावरणप्रदूषितहोरहाहै।स्कूलमेंसमय-समयपरऐसीगतिविधियांकरवाईजातीहैताकिबच्चोंकाशारीरिकवमानसिकविकासहोसके।