कीट रोगों के प्रबंधन को कृषि विभाग ने जारी की एडवाइजरी

जागरणसंवाददाता,ज्ञानपुर(भदोही):ठंडवगलनकेसाथरह-रहकरछारहेबादलोंकेचलतेरबीसीजनकीप्रमुखफसलसरसों,चना,मटरमेंलगनेवालेसामयिककीट-रोगोंसेबचावकेलिएकृषिविभागनेएडवाइजरीजारीकीहै।विभागनेफसलकीनियमितनिगरानीकरतेरहनेकीकिसानोंकोसलाहदीहै।

राई-सरसोंमेंलगनेवालेमाहोंएवंपत्तीसुरंगककीटकेनियंत्रणकेलिएएजाडिरेक्टिन0.15प्रतिशतईसी2.5लीटरयाफिरडाईमेथोएट30प्रतिशतईसीअथवाक्लोरपाइरीफास20प्रतिशतईसीकीएकलीटरदवाको600-700लीटरपानीमेंघोलबनाकरप्रतिहेक्टेयरकीदरसेछिड़कावकरनाचाहिए।इसीतरहअल्टरनेरियापत्तीधब्बा,सफेदगेरूईएवंतुलासितारोगकेनियंत्रणकेलिएमैंकोजेब75प्रतिशतडब्लूपीअथवाजिनेब75प्रतिशतडब्लूपीदवादोकिलोयामेटालैक्सिलआठप्रतिशत,मैंकोजेब64प्रतिशत2.5किलोकोप्रतिहेक्टेयरकीदरसे600-750लीटरपानीमेंघोलबनाकरछिड़कावकरनालाभकारीहोगा।चना-मटर

-फलीभेदकएवंसेमीलूपरकीटकेनियंत्रणकेलिएबर्डपर्चरलगानाचाहिए।इसकेसाथबीटीएककिलो,अथवाएनपीवी2प्रतिशत250-300एलईप्रतिहेक्टेयरकीदरसेलगभग250-300लीटरपानीमेंघोलकरछिड़कावकरनाचाहिए।एजाडिरेक्टिन0.03प्रतिशतडब्लूएसपी02.5-3.0किलोमात्राको500-600लीटरपानीमेंघोलबनाकरप्रतिहेक्टेयरकीदरसेछिड़कावकरनालाभकारीहोगा।पत्तीधब्बाएवंतुलासितारोगकेनियंत्रणकेलिएमैंकोजेब75प्रतिशतडब्ल्यूपीकीदवादोकिलोअथवाकापरआक्सीक्लोराइड50प्रतिशततीनकिलोदवाको500-600लीटरपानीएवंबुकनीरोगनियंत्रणकेलिएघुलनशीलगंधक80प्रतिशतदोकिग्राअथवाट्राइडेमेफान25प्रतिशतडब्लूपी250ग्रामदवाको500-600लीटरपानीमेंघोलबनाकरछिड़कावकरनाचाहिए।

किसानफसलोंकीनियमितनिगरानीकरें।यदिफसलमेंउक्तरोगकेलक्षणदिखेंतोदवाकाछिड़कावकरें।चूंकिमौसमबराबरबदलरहाहै,ऐसेमेंफसलोंमेंरोगलगेगाही।इसलिएकिसानअपनीफसलोंकोबचानेकेलिएअभीसेतैयाररहें।

अशोककुमारप्रजापति,जिलाकृषिअधिकारी