खुद के ही घर में अलग रह रहे डॉ. संदीप शर्मा, खुद ही धोते हैं कपड़े

प्रदीपघोघड़ियां,जींद

कोरोनासंक्रमणकीचेनकोतोड़नेकीखातिरजबसेजिलेमेंलॉकडाउनलागूकियागयाहै,उसीदिनसेनागरिकअस्पतालमेंआयुषमेडिकलऑफिसरकेपदपरतैनातडॉ.संदीपशर्माकालाइफस्टाइलहीबदलगयाहै।पिछलेसवामहीनेसेआइसोलेशनवार्डमेंड्यूटीकररहेडॉ.संदीपशर्माखुदकेहीघरमेंअलगरहरहेहैंतोकपड़ेभीखुदहीधोतेहैं,ताकिपरिवारकेदूसरेसदस्योंकोकिसीतरहकेसंक्रमणकाखतरानहो।डॉ.संदीपशर्माउनमहायोद्धाओंमेंसेएकहैं,जोकोरोनाकेखिलाफजंगलड़तेहुएफ्रंटपरखड़ेहैं।

लॉकडाउनसेपहलेडॉ.संदीपशर्माज्यादातरसुबह9बजेसेशाम5बजेतकड्यूटीकरतेथे।जबसेवैश्विकमहामारीकोरोनाकेकारणपूरेदेशकोलॉकडाउनकियागयाहै,तभीसेडॉ.संदीपशर्माकीड्यूटीआइसोलेशनवार्डमेंलगाईगईहै।अबज्यादातरड्यूटीशामकीहोतीहै।वहसैंपलिगकेदौरानचिकित्सकोंकीमददकरतेहैंतोसाथहीरिकॉर्डमेनटेनकरनाहोयादूसराकार्य,उसेडॉ.संदीपबखूबीनिभातेहैं।अगररातकोकोईमरीजनागरिकअस्पतालमेंलायाजाताहैतोउसकीस्क्रीनिगसेलेकरउसेएडमिटऔरमरीजकीमेडिसिनतकसबकार्यडॉ.संदीपकीदेखरेखमेंहोताहै।लगातारघंटोंकामकरनेकेबादभीडॉ.संदीपकेचेहरेपरजरासीभीथकाननजरनहींआती।

खुदहीधोतेहैंअपनेकपड़े

डॉ.संदीपशर्माबतातेहैंकिजिसआइसोलेशवार्डमेंउनकीड्यूटीलगीहै,वहांपरकोरोनाआशंकितोंकोरखाजाताहैऔरसैंपललिएजातेहैं।इसलिएजरासीचूककेसंक्रमणफैलनेकाखतरारहताहै।प्रदेशमेंसभीबड़ेअस्पतालोंकेचिकित्सकोंमेंकोरोनासंक्रमणपायागयाहै,इसलिएवहखुदबहुतहीसावधानीबरततेहैं।ड्यूटीकेबादघरजातेहैंतोसीधेबाथरूममेंजातेहैंऔरपानीमेंडेटॉलडालकरनहातेहैं।अपनेकपड़ोंकोभीखुदहीधोतेहैं।खुदकेसारेकपड़ेअलगसेरखतेहैं।अपनेघरमेंखुदकेलिएअलगकमराबनायागयाहै।वहींपरखानाआजाताहै।डॉ.शर्मानेकहाकिवहलोगफ्रंटपरआकरकोरोनाकीजंगलड़रहेहैं,लोगोंकोचाहिएकिघरोंमेंरहकरकोरोनाकोहरानेकेलिएसाथदें।

अपनीमर्जीसेहीचुनीशामकीड्यूटी

डॉ.संदीपशर्माकीड्यूटीनॉर्मलीसुबह9से3बजेतकरहतीथी।लेकिनकोरोनाकेकारणदेशपरआईसंकटकीस्थितिमेंउन्होंनेखुदहीशामकीड्यूटीचुनी,क्योंकिरातकोकिसीभीतरहकीइमरजेंसीहोसकतीहै।इमरजेंसीस्थितिसेनिपटनेकेलिएवहरातकोड्यूटीकररहेहैं।वहबतातेहैंकिइसतरहकेहालातमेंड्यूटीकरउन्हेंखुदपरगर्वमहसूसहोताहै।