खस्ताहाल सरकारी एंबुलेंस रास्ते में ही दे रहीं दगा

संवादसूत्र,हथगाम:सीएचसीमेंसंक्रमणकेबावजूदप्रतिदिनसैकड़ोंकीसंख्यामेंमरीजआतेहैं।सीएचसीसेगंभीररोगियोंकोजिलाअस्पतालरेफरकरनेपरसबसेबड़ीसमस्यासमयपरएंबुलेंसमिलनेकीहोतीहै।कईतीमारदारोंकाकहनाथाकिएंबुलेंसमेंटायरवस्टेपनीखराबहैं।सबसेअधिकसमस्या108एंबुलेंसमेंआरहीहै।

केसएक-हथगामब्लाककेअजईगांवमेंएकव्यक्तिकोरोनासंक्रमितमिला।उक्तमरीजकोएल-1अस्पतालतकछोड़नेकेलिएएंबुलेंसगाड़ीकोगांवभेजागया।एंबुलेंसगाड़ीमरीजकोलेकरचंदकदमचलीथी,उसकाटायरखराबहोगया।एकघंटेबाददूसरीगाड़ीकास्टेपनीलगाकरएंबुलेंसवहांसेरवानाहोसकी।

केसदो-सुल्तानपुरघोषथानेकेहसनपुरकसारगांवमेंसोमवारदोपहरमारपीटकीघटनामेंवृद्धकोगंभीरचोटआगई।प्राथमिकइलाजकेबादजिलाअस्पतालरेफरकरदिया।तीमारदारएंबुलेंसगाड़ीकेइंतजारमेंसीएचसीकेबाहरएकघंटेकेबादचलीतोवहरास्तेमेंखराबहोगई।

प्रोग्राममैनेजरनेआरोपकोबतायानिराधार

एंबुलेंसगाड़ियोंमें70हजारकिमीदूरीतयकरनेकेबादनएटायरदिएजातेहैं।बीचमेंटायरकोलेकरदिक्कतआरहीथी।फिलहालदोगाड़ियोंमेंदो-दोटायरदिलाएगएहैं।जैसेहीएंबुलेंसतयदूरीपूरीकरतीहैं,सभीमेंटायरबदलेजाएंगे।-सत्यभानत्रिवेदी,प्रोग्राममैनेजर,जीवीके