खबर के पार: भाजपा के जगत का प्रकाश, बिंदल से आस

शिमला, नवनीतशर्मा। बेशकभूमिकापहलेसेबन रहीथीलेकिनवह2011 केकुछनिर्णायकपलथेजबजगतप्रकाशनड्डानेहिमाचल प्रदेशमंत्रिमंडलकोछोड़तेहुए संगठनकोचुनाथा...संगठनके राष्ट्रीयफलककोचुनाथा।उसके बादपरिस्थितियोंकोअपनेश्रम सेअनुकूलबनातेहुएसंगठनकी आंचमेंऔरनिखरे।बेशकभारतीय जनतापार्टीकेकार्यकारीअध्यक्षसे नियमितअध्यक्षबननातयहीथा, निस्संदेह...हिमाचलप्रदेशजैसेछोटे राज्यकेलिएयहबड़ीबातहै।इस एकसर्वसम्मतनियुक्तिकेकईसंदेश हैं।राज्यछोटाहो,उससेअंतरनहीं पड़ता...कामबड़ाहोनाचाहिए।इस नातेयहप्रतिभाकासम्मानहै,प्रदेश कासम्मानहै।भाजपाकेजगतमें नड्डाकाप्रकाशहोनेकेपीछेमूलत: उनकाश्रमहै। बेशकवहप्रधानमंत्री नरेंद्रमोदीऔरगृहमंत्रीअमित शाहकेभीविश्वस्तहैं।औरविश्वास कमानासबसेकठिनकामहोताहै। उसेप्रमाणितकरनापड़ताहै...उसे होनाहीनहीं,दिखनाभीपड़ताहै। उसकेबादसेनड्डानेपीछेलौट करइसलिएनहींदेखाक्योंकिएक चुनौतीकेबाददूसरी,एकराज्यके बाददूसराऔरएककठिनकार्यके बाददूसराकठिनकार्यसंभालतेगए औरइसमुकामपरपहुंचे।

पटनासेलेकरशिमलाऔरउत्तर प्रदेशसमेतकईराज्योंमेंसंगठन क्षमताप्रमाणितकरचुकेनड्डाके दिल्लीतकपहुंचनेकेबीचकई उपलब्धियांदर्जहैं।जेपीआंदोलनने उनकीराजनीतिकऔरनेतृत्वचेतना  कोसींचाजिसकेबादवहअखिल भारतीयविद्यार्थीपरिषद,भारतीय जनतायुवामोर्चामेंपदाधिकारीरहे।

उसकेबादजबशांताकुमार1993में हारगएथे,जेपीनड्डाविधानसभा मेंपार्टीकेनेताथे।जबभारतीय जनतापार्टीकेआठहीविधायक थे।पितानारायणलालनड्डायूंही नहींकहतेकिनड्डामेंनेतृत्वके गुणबचपनसेहीथे।बिलासपुर काकंदरौरआंदोलनभीउन्हेंसामने लायाथा।उनकेदादाशिवरामनड्डा उन्हेंनेताजीकहहीबुलातेथे।वजह यहथीकिजब-जबनड्डाघरआते, हमउम्रबच्चोंकोइकट्ठाकरलेते। बाकीसबभीउनकीबातमानतेथे। उनकेसंगठककीझलककेलिएयह पर्याप्तहै।इससेपूर्वहिमाचलप्रदेश सेराष्ट्रीयफलकपर....रहेहैंलेकिन पहाड़काइतनाबड़ासम्मानपहली बारहुआहै।

भारतीयजनतापार्टीकेप्रदेशाध्यक्ष केचयनमेंभीजगतप्रकाशनड्डा कीछापदिखीहै।दोऐसेनामचल रहेथेजिनकाताल्लुकबिलासपुरसे थालेकिनवेनामवापसहुएऔर प्रश्नपूछागयाकिऐसेनेताकानाम बताएंजोअपनेदमपरभाजपाको चुनावतकलेजासके।इसलिए, क्योंकिआखिरलक्ष्य,क्षेत्रवाद, व्यक्तिवाद,निष्ठावादनहीं,संगठन होनाचाहिए।फिरडॉ.राजीवबिंदल कानामउभराऔरतयहोगया।

डॉ.राजीवबिंदलकेबारेमेंउनके विरोधीभीमानतेहैंकिवहकाम करनेवालेराजनेताहैं।पहलेसोलन औरसिरमौरमेंभाजपाकोमजबूत करनेमेंउनकायोगदानसर्वविदितहै। कभीराजनीतिकमौसमऐसाहोजाता हैकिवात,पित्तऔरकफहरपार्टी मेंअसंतुलितहोजातेहैं।आयुर्वेदज्ञ डॉ.बिंदलत्रिदोषकानाशकरेंगे,ऐसी हीअपेक्षासेउनकाचयनकियागया है।अबसंतुलनसधेगाऔरसरकार औरसंगठनकेबीचतारतम्यऔर बढ़ेगा,संगठनकाचेहराऔरदमक केसाथदिखाईदेगा,ऐसीउम्मीद करनास्वाभाविकहै।

मुख्यमंत्री जयरामठाकुरतोपहलेहीकहचुके हैंकियहप्रदेशकेलिएगर्वकीबात है।अनुरागठाकुरनेभी‘बड़ेभाई’ जगतप्रकाशनड्डाकेराष्ट्रीयअध्यक्ष बननेपरखुशीजताईहै,उसीप्रकार डॉ.बिंदलकाप्रदेशाध्यक्षबननाभी शिमलासेहमीरपुरऔरमंडीसे पालमपुरतकसबकोस्वीकारहो गयाहै।डॉ.बिंदलकेयहांअनुभव सिर्फसुनानेकेलिएनहींहोते, उनपरकामहो,इसीलिएहोतेहैं।

विधानसभाअध्यक्षरहतेहुएउन्होंने नएविधायकोंकीमजबूरीकोसमझा औरसंदर्भअनुभागयानीरेफ्रेंस सेक्शनकीस्थापनाकी।विधायक कोजिसविषयपरबोलनाहै,उस सेसंबद्धसामग्रीउन्हेंमिलजाएगी। यहविधानसभाकेअकादमिकस्तर कोउठानेकीदिशामेंएकबेहतर कदमथा।‘ईकमेटी’और‘ई कांस्टीच्युऐंसी’तोएकबेहतरसोच थीही।

यहज्ञातनहींकिकितनेलोगोंने इसकालाभउठाया।राष्ट्रीयअध्यक्ष जगतप्रकाशनड्डाहोंयाप्रदेशाध्यक्ष डॉ.राजीवबिंदल,इनदोनोंकी नियुक्तिकेसाथङ्क्षहदीभाषाभी सम्मानितहुईहैक्योंकिदोनोंशब्दके मर्मकोसमझतेहैं।भाजपाकोप्रदेश मेंआगेकीचुनौतियोंकेलिएतैयार करनेकाबड़ादायित्वडॉ.बिंदलके सामनेहैक्योंकिराष्ट्रीयअध्यक्षका प्रदेशआदर्शहोनाहीचाहिए।उम्मीद हैकिडॉ.बिंदलहरकोनेकीबात सुनेंगे।हालांकिहिमाचलप्रदेशकी 71लाखकीआबादीवालावहराज्य हैजहांबजटकेलिएसुझावमांगने परकेवल2393सुझावहीआएहैं। इनमेंसेभी80फीसदशिकायतें औरमांगेंहैं।जहांसुझावसेअधिक शिकायतेंहों,वहांसंगठनकोभी जनताऔरसरकारकेबीचपुल बननाहोगा।

हिमाचलकीअन्यखबरेंपढऩेकेलिएयहांक्लिककरें