खाद के लिए दर-दर भटक रहे किसान, दुकानों पर भी स्टाक नहीं

संवादसूत्र,मोहम्मदाबाद:आलूकीबोआईकेलिएकिसानकोडीएपी(खाद)कीजरूरतहै।जिसकेलिएवहदर-दरभटकरहेहैं।प्राइवेटदुकानोंपरभीडीएपीकास्टाकनहींहै।जिनदुकानदारोंकेपासडीएपीहै,वहभीगोदामोंमेंबंदकरमनमानेरेटपरबिक्रीकररहेहैं।सहकारीसमितियोंपरडीएपीउपलब्धनहींहै।जिनसमितियोंपरएपीकेउपलब्धहै,उसकेलिएभीमारामारीकीस्थितिहै।सहकारीसमितिकेसचिवबड़ेकिसानोंकोखाददेदेतेहैंऔरछोटाकिसानशामतकलाइनमेंलगारहजाताहै।

खादमिलनेकीआसमेंकिसानसुबहहीसमितिपरपहुंचजातेहैं।सहकारीसमितिमदनपुरमेंखादनहींहै।सचिवप्रांशुशुक्लानेबतायाकि16अक्टूबरको600बोरीखादआईथी,जोएकहीदिनमेंबंटगई।सहकारीसमितिधीरपुरमेंभीडीएपीवएनपीकेउपलब्धनहींहै।सचिवसुशीलकुमारअवस्थीनेबतायाकि800बोरीएनपीकेआईथी,वहएकदिनमेंहीबांटदी।साधनसहकारीसमितिखिमसेपुरमेंएकहजारबोरीएनपीकेखादहै।यहांबड़ीसंख्यामेंकिसानखादलेनेपहुंचे।एककिसानकोएकआधारकार्डपरअधिकतमपांचबोरीएनपीकेदीजारहीथी।डीएपीयहांभीनहींहै।किसानोंकीभीड़देखपुलिसबुलानीपड़ी।पुलिसनेकिसानोंकोशांतकरलाइनमेंलगकरखादलेनेकोकहा।बीघामऊनिवासीनंदकिशोर,दयाशंकर,गोविद,धर्मवीर,धीरपुरनिवासीअश्वनीकुमार,राजपाल,हमीरसिंह,चंद्रपालआदिनेबतायाकिखादकेलिएकईदिनसेचक्करलगारहेहैं।खादनमिलनेसेआलूकीबोवाईमेंविलंबहोरहाहै।सचिवमनमानेतरीकेसेचहेतोंकोखादरहेहैं।छोटेकिसानोंकोखादनहींमिलपारहीहै।डीएपीवएनपीकेप्राइवेटदुकानोंपरभीनहींहै।जिनकेपासहैवहभीमनमानेदामवसूलरहेहैं।प्राइवेटखादविक्रेताओंनेबतायाकिदोदिनबादभरपूरखादमिलनेकीउम्मीदहै।खिमसेपुरसहकारीसमितिकेसचिवसुशीलकुमारअवस्थीनेबतायाकिकिसानोंकोखादबांटीजारहीहै।अन्यसमितियोंकेकिसानभीखिमसेपुरमेंखादलेनेआरहेहैं,जिसकारणभीड़है।अन्यसमितियोंपरखादनहींहै।खादनमिलनेपरकंट्रोलरूममेंकरेंशिकायत

यदिकिसानकोखादमिलनेमेंकोईदिक्कतहोरहीहैतोजिलाकृषिअधिकारीकेकार्यालयमेंस्थापितकिएगएकंट्रोलरूमकेनंबर05692-297733या7839882518परफोनकरबतासकतेहैं।जिलाकृषिअधिकारीडा.आरकेसिंहनेकहाकिकिसानजोतबहीकेअनुसारखादकीखरीदकरें।जिलेमेंखादकीउपलब्धताबढ़ाईजारहीहै।