कदम-कदम पर दुश्वारियां, जानलेवा बना सफर

जागरणसंवाददाता,बस्ती:इसराहकीदास्तांबिगड़गईहै।अबयहचलनेकेकाबिलनहींहै।कदम-कदमपरगड्ढेहैं।कीचड़भरापानीपसराहुआहै।गिट्टीऔररोड़ेतितर-बितरहोकरबिखरेहैं।सड़ककीपहचाननहींहोपारहीहै।दुश्वारियोंकीदरियापारकरनायात्रियोंकेलिएकठिनचुनौतीहै।

यूंतोसड़ककीपहचानपुरानीहै।पहलेजनपदकीआर्थिकनगरीपुरानीबस्तीकोसिद्धार्थनगरजनपदसेजोड़नेवालायहमार्गथा।वर्तमानमेंलखनऊ-गोरखपुरहाईवेसेभीजुड़गयाहै।इसकीपहचानपांडेयबाजार-बांसीमार्गकेनामसेहोतीहै।एककिलोमीटरलंबीइससड़ककाआधाहिस्सानगरपालिकाऔरआधाभागजिलापंचायतकेअधीनहै।इसीलिएएकसाथसड़ककीमरम्मतयानिर्माणकासंयोगनहींबनपाताहै।नगरपालिकासीमामरवटियातिराहासेहाईवेतकइससड़ककीदुर्दशापूछिएमत।पूरीसड़कगड्ढोंमेंतब्दीलहोचुकीहै।बारिशकेचलतेस्थितिऔरबिगड़गईहै।गंदापानीगड्ढोंमेंलबालबभराहुआहै।दोपहिया,चारपहियावाहनबहुतसावधानीसेइसमार्गपरचलरहेहैं।फिरभीकोईनकोईवाहनहिचकोलेखाकरअक्सरपलटजाताहैं।यहांपैदलचलनाऔरकठिनहै।

यहांमाननीयोंकीभीभरमार

इसमार्गपरमाननीयोंकीभीभरमारहै।मरवटियामेंएकपूर्वविधायक,एकपूर्वएमएलसी,दोपूर्वजिलापंचायतअध्यक्ष,एकवर्तमानविधायक,तीनपूर्वप्रमुखकानिजीनिवासभीहै।इसीराहसेलग्जरीगाड़ियोंमेंइनमाननीयोंकाआना-जानाहररोजहोताहै।चुनावमेंजनसेवाकादंभभरनेवालेयहमाननीयअपनेहीमोहल्लेकीसड़कनहींबनवापारहेहैं।

श्रवणकुमारपांडेयकाकहनाहैकिशासनप्रशासनइससड़कपरकभीध्याननहींदेताहै।जबकिजनपदकाथोकव्यापारइसीमार्गकेजरियेहोताहै।विभिन्नतरहकेटैक्सकेरूपमेंयहांसेशासनकोअच्छाखासाराजस्वभीमिलताहै।

राजेशकुमारजायसवालकहतेहैकियदाकदामरम्मतकार्यहुआभी,तोकुछहीदिनोंकेबादस्थितिफिरजसकीतसहोजातीहै।कमीशनऔरभ्रष्टाचारकेचलतेनिर्माणमेंगुणवत्ताकाख्यालनहींकियाजाताहै।जानजोखिममेंडालकरहमेंइसमार्गपरयात्राकरनीपड़तीहै।