कैसे बनेगा स्किल इंडिया, चंडीगढ़ के आइटीआइ में न रेगुलर प्रिंसिपल और न इंस्ट्रक्टर

चंडीगढ़,[सुमेशठाकुर]। गवर्नमेंटइंडस्ट्रियलट्रेनिंगइंस्टिटट्यूट(आइटीआइ)सेक्टर-28मेंनतोरेगुलरप्रिंसिपलऔरनहीइंस्ट्रक्टर।ऐसेमेंस्टूडेंट्सकैसेस्किल्डहोंगे।आइटीआइमें26तकनीकीट्रेडमें570केकरीबस्टूडेंट्सपढ़ाईकररहेहैं,लेकिनस्टूडेंट्सकीबदकिस्मतीयहहैकिनतोसंस्थानमेंबीतेचारसालसेस्थायीप्रिंसिपलहैऔरनहीइंस्ट्रक्टर।

कोविड-19केकारणस्टूडेंट्ससप्ताहमेंएकसेदोदिनहीक्लासकेलिएआरहेहैं।बावजूदउन्हेंयहांपढ़ानेकेलिएइंस्ट्रक्टरनहींहैं।वहीं,आइटीआइकेकार्यकारीप्रिंसिपलएमएलराणाकाकहनाहैकिउन्हेंभीइसबातकाखेदहैकिसंस्थानमेंइंस्ट्रक्टरकीकमीहै।इससमस्याकेलिएउन्होंनेकई बारप्रशासनकोबतायाभीलेकिनआजतकयहांशिक्षकों(इंस्ट्रक्टर)कीनईनियुक्तिनहींहुई।

इनट्रेड्सकीहोरहीपढ़ाई

आइआइटीमेंहरबैचमें30से50स्टूडेंट्सपढ़ाईकररहेहैं।जिसमेंस्टूडेंट्सइलेक्ट्रानिक,इलेक्ट्रिकल,डीजल,कंप्यूटरसेलेकरस्टैनोहिंदीऔरइंग्लिश,ड्राफ्टमेनमैकेनिकल,ड्राफ्टमैनसिविल,फिल्टर,बेल्डर,मोटरमैकेनिक,प्लंबरसहितविभिन्नट्रेडोंमेंपढ़ाईकररहेहैं।

10सालसेपीटीकीपोस्टखाली

आइटीआइ28मेंइससमय26मेंसेछहपोस्टेंखालीहैं।इनमेंसबसेअहमफिटिकलट्रेनिंगटीचरकीपोस्टहै।यहपद2011केबादसेखालीपड़ाहै। इसीप्रकारलाइब्रेरियनकापदसातसालसेखालीपड़ाहै। मेडिकलआफिसरकापदपरआठसेकिसीकीभीनियुक्तिनहींहुई।वहीं,20मेंसेदसइंस्ट्रक्टरकांट्रेक्टपरकामकररहेहैं।

इंस्ट्रक्टरकररहेचुनावीड्यूटी

कोरोनामहामारीकेचलतेइससालआइटीआइकासत्रजुलाईकेबजायसितंबर2020मेंशुरूहुआथा।जिसकेबाद15इंस्ट्रक्टरऐसेहैंजोकिचुनावविभागकीड्यूटीदेरहेहैं।पांचमहीनेबीतजानेकेबादस्टूडेंट्सकास्लेबस20से25प्रतिशतहीपूराहोपायाहै।

चुनावविभागकाकामहोनाभीजरूरीहै।इसकेलिएआइटीआइसेक्टर-28केइंस्ट्रक्टरकीड्यूटीलगाईगईहैजोकिजल्दहीखत्मकरदीजाएगी।

-जगजीतसिंह,डायरेक्टरतकनीकीशिक्षाविभाग।