कार्ड नहीं, अब वाट्सएप निमंत्रण ही कीजिए स्वीकार

अमितसैनी,रेवाड़ी

कोरोनाकालनेबहुतकुछबदलाहै।25नवंबरकोदेवउठनीएकादशीकेसाथहीवैवाहिककार्यक्रमोंकीभीशुरुआतहोरहीहै।शादियोंकेनिमंत्रणकोलेकरबड़ाबदलावयहआयाहैकिसंक्रमणसेबचावकेलिएनतोआयोजककिसीकेघरकार्डदेनेजारहेहैंऔरनहीरिश्तेदारवपरिचितजिदकररहेहैंकिकार्डदेनेआओगेतभीकार्यक्रममेंशामिलहोंगे।जिसतरहस्कूलोंकीकक्षाएंएवंदफ्तरोंकीमीटिगआनलाइनहोरहीहैं,उसीतरहकार्डभीआनलाइनहीदिएजारहेहैं।रिश्तेदारोंकोअबवाट्सएपअथवाफोनकरकेहीआमंत्रितकियाजारहाहै।डिजीटलहुएनिमंत्रणपत्रभाजपासरकारकीपहलीपारीमेंवनमंत्रीरहेरावनरबीरसिंहअपनेहरभाषणमेंएकबातअवश्यकहतेथेकिहमसभीकोअबकार्डछपवानेबंदकरनेचाहिए।इससेकागजकीबचतहोगीऔरपेड़कमकाटनेपड़ेंगे।पूर्ववनमंत्रीकीयहअपीलअबकोरोनाकालमेंलोगोंपरअसरकररहीहै।शादियोंवअन्यमांगलिककार्योंकेकार्डअबबेहदकमछपवाएजारहेहैं।निमंत्रणपत्रभीअबडिजीटलहोगएहैं।वाट्सएपकेजरियेहीअबयेडिजीटलनिमंत्रणपत्ररिश्तेदारोंकोभेजेजारहेहैं।रिश्तेदारभीआयोजकोंकेनहींआपानेकाबुरानहींमानरहे।दोनोंपक्षबेहतरतरीकेसेसमझरहेहैंकिकोरोनासेबचावकेलिएयहबेहदआवश्यकहै।निश्चिततौरपरइसबदलावसेकागजकेसाथहीसमयभीबचरहाहै।

कोरोनाकालमेंलोगडिजीटलकार्डहीज्यादाबनवारहेहैं।वैवाहिकनिमंत्रणवीडियोमेंसभीजानकारीउपलब्धहोतीहै।यहसस्ताभीपड़ताहैतथापसंदभीकियाजारहाहै।जोलोगकार्डछपवारहेहैं,वेभीइनकीसंख्याबेहदकमहीरखरहेहैं।

-विपिनयादव,रेवाड़ीफ्लेक्स

कोरोनाकालमेंनिश्चिततौरपरकईबदलावआएहैं।हमनेसावधानीसेजीनासीखलियाहै।संक्रमणसेखुदकोबचानेकेलिएसफाईकामहत्वभीजानलियाहै।यहतकनीककायुगहैऔरशादियोंकेनिमंत्रणकोलेकरभीडिजीटलतकनीकअपनाईजारहीहै।यहबदलावबेहतरहै।कार्डबांटनासबसेमुश्किलकामहोताहै।इससेआयोजककासमयवधनदोनोंबचरहेहैं।अच्छेबदलावोंकोहमेंस्वीकारकरलेनाचाहिए।कोरोनाकालकेबादभीनिमंत्रणकीयहीप्रथाबेहतररहेगी।

-प्रो.आरएसयादव,समाजसेवी