कानपुर में अब कोरोना फेफड़ों पर कर रहा हमला, टूटती सांसों को बचाने के लिए ऑक्सीजन की खपत बढ़ी

कानपुर,जेएनएन।कोरोनासंक्रमणकाहमलासीधेफेफड़ोंपरहोरहाहै।इसकीवजहसेरोगियोंकीसांसेंउखडऩेलगीहैं।कईसंक्रमितोंकीमौतहोचुकीहै।अस्पतालोंमेंऑक्सीजनकीखपतबढ़गईहै।हैलटकेन्यूरोसाइंसकोविडवमैटरनिटीकोविडअस्पताल,इमरजेंसीवआइसीयूकेलिएएकदिनछोड़करऑक्सीजनकाट्रकआरहाहै।ऑक्सीजनकीमांगदोगुनीहोगईहै।न्यूरोसाइंससेंटरमेंरोजानाकरीबछहहजारलीटरऑक्सीजनलगरहीहै।पहलेदोहजारलीटरखपतरहतीथी।मैटरनिटीविंगमेंतीनहजारलीटरऔरइमरजेंसीमेंदोहजारलीटरऑक्सीजनलगरहीहै।यहांन्यूरोसाइंससेंटर,इमरजेंसीऔरजच्चाबच्चाअस्पतालकेपीछेऑक्सीजनकेप्लांटलगेहुएहैं।यहांदेहरादूनसेऑक्सीजनकाट्रकआताहै।बैकअपकेलिए450बड़ेऔर550छोटेसिलिंडरहैं।

उर्सलामेंऑक्सीजनकेरोजाना120-130बड़ेसिलिंडरलगरहेहैं।पहले60से70कीजरूरतरहतीथी।सीएमएसडॉ.अनिलनिगमकेमुताबिकअस्पतालमेंऑक्सीजनजेनरेशनप्लांटस्थापितकियाजारहाहै।कांशीरामकोविडअस्पतालमेंभीऑक्सीजनअधिकखर्चहोरहीहै।सीएमएसडॉ.दिनेशसचाननेबतायाकि25से30बड़ेसिलिंडरलगरहेहैं।ऑक्सीजनसेंट्ररमशीनलगीहुईहै,जिससेपांचलीटरप्रतिमिनटऑक्सीजनतैयारकीजातीहै।