कामगारों के भरण पोषण पर शासन की नजर

संवादसूत्र,प्रतापगढ़:कोरोनाकेसंक्रमणसेबचनेकेलिएकामगारपरदेससेअपनेघरआपहुंचरहेहैं।यहांतककिहजारोंकीसंख्यामेंकामगारमाहभरपहलेहीपरदेससेअपनेघरआभीचुकेहैं।वहींआर्थिकसंकटसेनिजातपानेकेलिएकाफीसंख्यामेंकामगारऔद्योगिकक्षेत्रसुखपालनगरमेंस्थितआंवला,दवा,मसालासहितअन्यइकाइयोंमेंकामभीकररहेहैं।शासननेउपायुक्तउद्योगकोपत्रभेजकरनिर्देशितकियाहैकिअगरइकाइयोंमेंकामकररहेकामगारोंकेभरणपोषणमेंअगरकिसीतरहकीसमस्याआए।उसकात्वरितनिदानकियाजाए।इसकेअलावाकामगारोंकेमानदेयनदेनेपरउद्यमियोंपरआवश्यककार्रवाईकरनेकोभीकहाहै।

शहरसेकरीबसातकिलोमीटरकीदूरीपरऔद्योगिकक्षेत्रसुखपालनगरहै।यहांपरआंवला,मसाला,चप्पल,ऑयलमिल,साइकिलबनानेआदिकेकारखानेचलरहेहैं।इसकेअलावापट्टी,कुंडा,रानीगंजतहसीलक्षेत्रमेंभीकईतरहकेकारखानेउत्पादनकररहेहैं।कोरोनाकालमेंइनकारखानाइकाइयोंपरकामकरनेवालेकामगारोंवपरदेससेआएकामगारोंकेभरणपोषणमेंकिसीतरहकीदिक्कतनझेलनीपड़े,इसकेलिएशासननेइसपरउपायुक्तउद्योगपरनजररखनेकोकहाहै।यहांतककिकितनीइकाइयोंमेंकितनेकामगारकामकररहेहैं।इसकीभीपूरीरिपोर्टशासनमेंभेजीजारहीहै।शासनकेइसपहलसेकामगारोंकोकाफीराहतमिलीहै।उपायुक्तउद्योगदिनेशकुमारचौरसियानेबतायाकिशासनकानिर्देशहैकिकामगारोंकेभरणपोषणमेंकिसीतरहकीदिक्कतनआनेपाए।इसपरनजररखीजारहीहै।प्रतिदिनशासनकोरिपोर्टभीभेजीजारहीहै।

उद्यमियोंकोकियासचेत

शासनकानिर्देशआतेहीउपायुक्तउद्योगनेसभीउद्यमियोंकोसचेतकियाहै।उद्यमियोंकोसाफतौरपरकहाकिअगरकिसीभीकामगारकेमानदेयदेनेमेंलापरवाहीबरतीगई।बिनाठोसकारणकेउनकोनिकालागयातोउनकेविरुद्धविभागकड़ाकदमउठाएगा।उपायुक्तउद्योगकीसख्तीसेउद्यमीसहमेहुएहैं।