काम बढ़ा तो जिम्मेदारी से खींचने लगे हाथ

जागरणसंवाददाता,फर्रुखाबाद:बेसिकशिक्षापरिषदनेबीआरसीपदसमाप्तकरअकादमिकरिसोर्सपर्सन(एआरपी)कापदसृजितकरतेहुएजिम्मेदारियांक्याबढ़ाईशिक्षकमुंहमोड़नेलगे।यहीकारणहैकिआदेशआएसातमाहबीतचुकेहैं,लेकिनजिलेमेंअबतक40एआरपीपदोंकेसापेक्षसिर्फ22पदहीभरेजासकेहैं।अफसरोंकीमानेंतोइसकेपीछेकारणयहहैकिएआरपीबननेवालेशिक्षकोंकोनिरीक्षणकेसाथहीबच्चोंकोपढ़ानाभीहोगा।साथहीइसकीरिपोर्टप्रतिदिनराज्यपरियोजनानिदेशककार्यालयलखनऊकोऑनलाइनदेनीहोगी।

अक्टूबर2019मेंशासननेबीआरसीपदसमाप्तकरतेहुएएआरपीपदसृजितकिएथे।अंग्रेजी,हिदी,सामाजिकविज्ञान,विज्ञानवगणितविषयकेशिक्षकोंकाइसपदपरचयनहोनेकेबादउनकाकार्यहरमाह30विद्यालयोंकानिरीक्षणकरबच्चोंकीपढ़ाईपरनजररखनाहै।पढ़ाईमेंकमजोरबच्चोंकोसंबंधितस्कूलकेशिक्षककेसाथमिलकरएआरपीभीपढाएंगे।यहीवजहहैकितीन-चारबारविज्ञप्तिकेप्रकाशनहोनेकेबादभीअभीतकसिर्फ22पदहीभरेजासकेहैं।कामबढ़नेकेचलतेहीशिक्षकएआरपीबननेसेकतरारहेहैं।

बोलेजिम्मेदार

अबवहीलोगएआरपीबनसकतेहैंजोकाममेंएक्टिवहोंगे।कामबढ़नेसेशिक्षकएआरपीनहींबननाचाहतेहैं।क्योंकंस्कूलके30निरीक्षणकरनाअनिवार्यहै,जिसकीऑनलाइनमानीटरिगराज्यपरियोजनानिदेशककार्यालयलखनऊसेहोगी।इसकेअलावापाठ्ययोजनाएंबनाकरअपलोडकरना,बीआरसीपरशिक्षकसंकुल,प्रधानाध्यापकोंकेसाथबैठककरनावप्रेरणाएपपरशिक्षासंबंधीकार्यक्रमअपलोडकरनेकेसाथहीकईअन्यकामभीकरनेहोंगे।हरमाहइन्हें2500रुपयायात्राभत्तामिलेगा।''

-ऋचायादव,डीसीप्रशिक्षण।