जनता को महफूज रखने को चट्टान की तरह खड़ी है खाकी

बागपत,जेएनएन।अपनीजानहथेलीपररखपुलिसवालेआमजनताकोमहफूजरखनेकेलिएचट्टानकीतरहखड़ेहैं।अपनोंसेदूररहकरदिन-रातकर्तव्यकानिर्वहनकररहेहैं।सुरक्षाकवचकेसाथ-साथमानवताधर्मभीनिभारहेहैं।भूखेपेटकिसीकोरोटीखिलारहेंहैंतोकिसीबीमारकोदवाईउपलब्धकरारहेहैं।

पुलिसकोरोनासंक्रमणसेबचानेकोमास्क,सैनिटाइजरआदिकावितरणकररहीहै।पुनीतकार्यकरनेपरजनतापुलिसवालोंपरपुष्पोंकीवर्षाकररहीहै,वहींलॉकडाउनकापालनकरानेपरशरातीतत्वखाकीपरपत्थरभीबरसारहेहै।विषयपरिस्थितियोंसेपुलिसगुजररहीहै।उनकाएकहीमकसदहैकोरोनाकोहराना।

कोरोनाकेनोडलअधिकारीएवंएएसपीअनिलसिंहसिसौदियाबतातेहैंकिवैश्विकमहामारीकोरोनावायरसकेसंक्रमणफैलनेसेपुलिसकीजिम्मेदारीसबसेज्यादाबढ़ीहै।एकतरहअपराधिकघटनाओंकोरोकनाहैवहींदूसरीतरहकोरोनावायरससेजनताकेसाथ-साथखुदकोबचाना।जनतासेलॉकडाउनकापालनकराना।इसकेलिएप्रतिदिन17-18घंटेकार्यकरतेहैं।घरगएकईमाहहोगएहैं।बच्चोंसेकॉलकरउनकाहालजानलेतेहैं।जिसतरहसेहमेंअपनेबच्चोंकीचिताहै,इसीतरहबच्चोंकोहमारी।

बागपतकोतवालीकीएसआइचंद्ररेखाबतातीहैंकिउनकोछुट्टीलिएकरीबएकसालहोगयाहै।बेटीतनुदिल्लीमेंपढ़ाईकरतीहै।बेटीकोउनकेपासबागपतआनाथा,लेकिनलॉकडाउनमेंदिल्लीमेंहीअपनेमौसेरेभाई-बहनकेसाथरहरहीहै।वहमोबाइलसेकॉलकरबेटीसेहालजानलेतीहै।उनकोफिलहालज्यादासमयतथासतर्कतासेड्यूटीकरनीपड़रहीहै।इसीतरहयातायातपुलिसकेहेडकांस्टेबलइंद्राजसिंहकाकहनाहैकिवहपिछलेएकमाहसेलगातारड्यटीकररहेहै।रोडपरवाहनतोनहींचलरहेहै,लेकिनपहलेकीअपेक्षाअबज्यादाजिम्मेदारीकीड्यूटीहै।इसविषयपरिस्थितिमेंउनकोजनताकीसेवाकरनेकामौकामिलरहाहै,इसकीउनकोखुशीहै।