जलजमाव से पीड़ित लोगों का फूटा गुस्सा, किया सड़क जाम

पूर्णिया।शहरकेवार्डनंबर15मेंगायत्रीमंदिरकेबगलवालीसड़कमेंएकहफ्तेसेघुटनामेंभरपानीमेंरहतेहुएलोगपरेशानहोगए।बुधवारकोउनकाधैर्यजवाबदेगयाऔरवेसड़कपरउतरआए।

आक्रोशितलोगोंनेकलाभवनसेथानाचौकजानेवालेमुख्यसड़ककोबांसबल्लालगाकरआवागमनबाधितकरदिया।सभीवहांहंगामाकरनेलगे।सड़कजामकीसूचनापरपहुंचीकेहाटथानापुलिसनेलोगोंकोसमझानेकाप्रयासकिया।इसदौरानलोगोंकाकहनाथाकिनगरनिगमप्रशासनशहरकोनरकनिगमबनादियाहै।घरमेंघुसेगंदेपानीसेलेकरसड़कतकपानीकेबीचलोगोंकाजीनामुहालहोगयाहै।जलनिकासीकेलिएकोईव्यवस्थानहींकीजारहीहै।लगातारहोरहेबारिशसेपानीकास्तरधीरे-धीरेबढ़तेजारहाहै।घरसेपानीकानिकासीनहींहोरहीहै।इसकेलिएनगरनिगमकीओरसेकोईकार्यनहींकियाजारहाहै।लोगजलनिकासीकार्यशुरूकरानेकीमांगपरडटेरहे।स्थानीयलोगोंनेस्वयंजेसीबीमंगाकरजलनिकासीकेलिएकलभर्टकीसफाईकीतोथोड़ेपानीकाबहावहुआ।पुलिसद्वाराकाफीसमझानेकेबादलोगोंनेजामसमाप्तकिया।हालांकिजलजमावकीसमस्याजसकातसबनीहुईहै।

नहींमिलरहीराहत

शहरवासियोंकोजलजमावकीसमस्यासेएकसप्ताहसेराहतनहींमिलरहीहै।शहरकेअधिकतरहिस्सेजलमग्नहैं।शहरकेअधिकांशहिस्सेमेंजलजमावकीसमस्याबनीहुईहै।सड़कसेलेकरलोगोंकेघरोंतकमेंपानीघुसाहुआहै।बारिशसेजमेजलकास्तरऔरबढ़रहाहै।धीरे-धीरेलोगोंमेंआक्रोशबढ़ताजारहाहै।