जल संचय को स्कूल परिसर में बनाया शॉकपिट

संवादसहयोगी,मुरलीपहाड़ी(जामताड़ा):जागरणकासहेजलोएकबूंदकार्यक्रमकेतहतशैक्षणिकअंचलनारायणपुरकेउत्क्रमितउच्चविद्यालयमुरलीपहाड़ीमेंजलसैनिकोंनेशॉकपिटगड्ढातैयारकिया।प्रधानाध्यापकमो.रिजवानकेनेतृत्वमेंजागरणजलसेनाकेसैनिकोंनेघंटोंमेहनतकरजलसहेजनेकेलिएशॉकपिटतैयारकिया।इसबाबतप्रधानाध्यापकनेजलसैनिकोंसेकहाकिसरकारवजागरणकेजलशक्तिअभियानसेक्षेत्रकेजलस्तरमेंवृद्धिहोगी।बरसातकाजलवपानीकाफिजूलबहावरुकनेसेनिश्चितरूपसेआनेवालेसमयमेंजलसंकटजैसीविकटसमस्यादूरहोगी।उन्होंनेविद्यार्थियोंसेकहाकिसभीएकसैनिककीतरहजलकोबचानेकेलिए,उसकीबर्बादीकोरोकनेकेलिएसमाजमेंजागरूकताफैलानेकाकामकरें।अपने-अपनेपरिवार,अपनेआस-पड़ोसकेलोगोंकोपानीकेमहत्वकोसमझानेकाकामकरें।यदिगांवमेंकहींभीआपकोफिजूलपानीकाबहावदिखरहाहैतोउसेशॉकपिटबनाकररोके।कच्चागड्ढाखोदकररोके।बोराबांधबनवाएं।पानीरोकनेकेजिनसंसाधनोंकाउपयोगआपसभीकरसकतेहैंउसेअवश्यकरें।उन्होंनेजागरणकेइसअभियानकीप्रशंसाकी।जलसैनिकोंकोहमेशासक्रियरहनेकासुझावदिया।मौकेपरजलसैनिकअमितकुमार,जयंतकुमार,समीरअंसारी,दिवाकरमंडल,नंदकिशोरसिंहआदिउपस्थितथे।