जिम्मेदारी को ईमानदारी के साथ बखूबी से निभाती हैं बबीता देवी

जागरणसंवाददाता,पानीपत:जवाहरनगरकीबबीताहरिसिंहकालोनीस्थितअर्बनपीएचसी(शहरीप्राथमिकस्वास्थ्यकेंद्र)मेंवर्ष2011सेएएनएम(ऑक्सिलरीनर्समिडवाइफरी)केपदपरकार्यरतहैं।कोविड-19महामारीकेदौरानविभागनेवैक्सीनलगानेकेसाथएरियामेंआनेवालेपॉजिटिवकेससंबंधितजानकारीकोलेकरजिम्मेदारीसौंपीहै।जिसेवहईमानदारीकेसाथबखूबीनिभारहीहैं।जागरणसेबातचीतमेंबबीतादेवीनेकहाकिपिछलेसालकोविड-19कापीएचसीकेअंतर्गतआनेवालेएरियामेंपहलाकेसआयातोउसकीहिस्ट्रीजाननेकेलिएगई।पहलेतोकेसकेबारेमेंसुनकरहीडरालगा।लेकिनजैसेजैसेकेसआएऔरवोरूटीनमेंउनकीजानकारीहासिलकरनेकेलिएजानेलगीतोकाफीहदतकडरदूरहुआ।उसेबाहरसेआनेवालेलोगोंवपॉजिटिवकेसकोट्रेसकरनेकेसाथउनकीपूरीहिस्ट्रीतैयारकररिपोर्टदेनीहोतीथी।वोएहतियातबरततेहुएअपनेकामकोकरतीरही।इसबारभीउसकीड्यूटीपॉजिटिवकेससेसंबंधितजानकारीजुटानेकेसाथवैक्सीनलगानेमेंलगीहै।वोपॉजिटिवकेसकोघरपरआइसोलेशनमेंरखागयाहैयाअस्पतालमेंएडमिटहै।उसकाकैसेइलाजचलरहाहै।वोकहींबाहरतोनहींनिकलरहाआदिजानकारीरखतीहै।

बबीताकेपरिवारमेंपतिराकेशकुमार(अकाउटेंट),बड़ीबेटीदीपाली(21),उससेछोटीअंकिता(14)वसबसेछोटाबेटाप्रतीक(8)है।हररोजड्यूटीसेआनेकेबादवोअपनेकपड़े,जूतेआदिकोदूररखतीहैं।फिरसैनिटाइजकरनहानेकेबादभीएहतियातकेतौरपरदोसेतीनघंटेबच्चोंसेदूररहतीहैं।वहींमांकीड्यूटीकोजानबच्चेनेभीबादमेंमिलनेकीआदतबनालीहै।