जेपी नड्डा के हाथ भाजपा की कमान, तीन साल में कई चुनौतियों से होना पड़ेगा रूबरू

जागरणब्यूरो,नईदिल्ली।विश्वकीसबसेबड़ीपार्टीभाजपाकीकमानअबजगतप्रकाशनड्डाकेहाथसौंपदीगईहै।पार्टीनेसर्वसम्मतिसेअगलेतीनसालकेलिएउन्हेंभाजपाकाराष्ट्रीयअध्यक्षचुनलियाहै।महजतीससालकेसंघर्षमेंसामान्यकार्यकर्तासेलेकरशीर्षनेतृत्वतककीयात्राजहांबड़ीउपलब्धिहैवहींअबतककेसबसेसफलतमपूर्वअध्यक्षअमितशाहकीउपलब्धियोंकोसंभालनाऔरबढ़ानाएकबड़ीचुनौतीभीहै।

यहरोचकइसलिएहैक्योंकिनड्डाकीपहलीपरीक्षाअगलेएकपखवाड़ेमेंहीशुरूहोजाएगीऔरअगलेतीनसालतकडेढ़दर्जनराज्योंमेंपरखीजाएगी।चुनौतीइसलिएभीज्यादाहैक्योंकिइनमेंसे11राज्यभाजपाऔरराजगकेपासहीहैजिसेदोहरानेकादबावहोगा।जबकिआधेदर्जनराज्योंमेंसंभावनाओंकीतलाशलंबेसमयसेचलरहीहै।

सोमवारकोअध्यक्षपदपरचुनावकेसाथहीनड्डानेभाजपाकीउसपरंपराकोजीवितरखाहैजिसकेतहतकिसीखासपरिवारसेजुदाएककार्यकर्ताहीअध्यक्षकीकुर्सीपरआसीनहुआहै।औपचारिकचुनावसेपहलेकेंद्रीयमंत्रीअमितशाह,रक्षामंत्रीराजनाथसिंह,सड़कपरिवहनमंत्रीनितिनगडकरीसमेतकईकेंद्रीयमंत्रियोंवमुख्यमंत्रियोंनेनड्डाकेनामांकनकेपक्षमेंसमर्थनकियाथा।कोईदूसरादावेदारनहोनेकीस्थितिमेंनामांकनकावक्तखत्महोनेकेसाथहीवहअध्यक्षचुनलिएगए।जोशीलेकार्यकर्ताओंकेनारों,हिमाचलप्रदेशसेआएनर्तकों,ढ़ोलनगाड़ोकेबीचकेंद्रीयचुनावअधिकारीराधामोहनसिंहनेसभीनेताओंकीमौजूदगीमेंनड्डाकेराष्ट्रीयअध्यक्षपरचुनावकीघोषणाकी।अमितशाहनेपीठथपथपाकरउनकाउत्साहव‌र्द्धनकिया।

बतौरअध्यक्षदिल्लीचुनावनड्डाकापहलासंग्राम

हालांकिकार्यकारीअध्यक्षकेरूपमेंनड्डानेपिछलेछहमहीनेमेंमहाराष्ट्र,हरियाणा,झारखंडचुनावकोभीनजदीकसेदेखाहैलेकिनबतौरअध्यक्षदिल्लीचुनावउनकापहलासंग्रामहोगा।उसकेबादसालकेअंतमेंबिहारसामनेहोगाजहांनड्डानेजीवनकालंबावक्तगुजाराहै।परउसकेबादकासालसहीमायनोंमेंचुनौतीभराहोगा।

2021मेंपांचराज्योंमेंचुनावनड्डाकेलिएचुनौती

दरअसल2021मेंजिनपांचराज्योंमेंचुनावहोनेहैंउसमेंअसमभीशामिलहैजहां2016मेंपहलीबारभाजपाकीसरकारबनीथी।ध्यानरहेकिअसमहीवहराज्यहैजहांपहलाएनआरसीभीहुआऔरसीएएपरविरोधकीपहलीआंधीभीउठी।हालांकिउसेथामलियागयाहै।इसीसालपश्चिमबंगालऔरकेरलमेंभीचुनावहोनेहैं।पश्चिमबंगालमेंलोकसभाचुनावनतीजोंकेबादसेभाजपाउत्साहितहैऔरनड्डाकेनेतृत्वसेबड़ीअपेक्षाहोगी।

केरलऔऱतमिलनाडुकेलिएनड्डाकीरणनीतिहोगीअहम

जबकिकेरलऔरतमिलनाडुमें2021मेंपहलाचुनावएमकरुणानिधिऔरजेजयललिताकीगैरमौजूदगीमेंहोगा।ऐसेमेंनड्डाकीरणनीतिअहमहोगी।वैसेनड्डाकीसांगठनिकक्षमतासेसभीवाकिफहैं।यहीकारणहैकिनरेंद्रमोदीकेपहलेकार्यकालमेंमंत्रीबननेकेबावजूदशाहउनसेसांगठनिककार्यलेतेरहेथे।उत्तरप्रदेश,उत्तराखंड,पंजाब,नड्डाकेगृहप्रदेशहिमाचलप्रदेशसमेतलगभगपूरेउत्तरपूर्वमेंभीइनकेकार्यकालमेंहीचुनावहोंगे।ऐसेमेंअपनेराज्योंकोसंभालतेहुएपंजाब,पश्चिमबंगालजैसेराज्योंमेंसत्ताहासिलकरनाबड़ीचुनौतीहोगी।

नड्डाकोअमितशाहकीखींचीगईलंबीलकीरसेजूझनाहोगा

गौरतलबहैकिभाजपाकेपूर्वअध्यक्षअमितशाहकईबारकहचुकेहैंकिअभीभाजपाकास्वर्णिमकालनहींआयाहै।नड्डाकर्नाटकसेदक्षिणयानीकेरलऔरतमिलनाडुऔरपश्चिमबंगालमेंअगरभाजपाकाकेसरियाफहरानेमेंकामयाबहुएतोपार्टीइतिहासमेंउनकानामहमेशाकेलिएस्थापितहोजाएगा।लेकिनफिलहालयहसचहैकिउन्हेंबारबारअमितशाहकीखींचीगईलंबीलकीरसेजूझनाहोगा।जिसतरहप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीसेलेकरराजनाथसिंहतकनेशाहकीसफलताकाउल्लेखकियावहइसकासाफसंकेतहै।

नड्डाजोचाहेंगेहमवहकरेंगे:पीएममोदी

प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेकहाकिजेपीनड्डाकेहाथभाजपाकीकमानजेपीनड्डाकेनेतृत्वमेंभाजपानईउंचाइयोंकोप्राप्तकरेगा।वहपार्टीसेजोचाहेंगेहमवहकरेंगे।

नड्डाकेनेतृत्वमेंपार्टीमजबूतभीहोगी,विस्तारभीहोगा:शाह

केंद्रीयगृहमंत्रीअमितशाहनेकहाकि प्रधानमंत्रीकेमार्गदर्शनऔरनड्डाजीकेनेतृत्वमेंभाजपाऔरमजबूतभीहोगीऔरइसकाविस्तारभीहोगा।