जांच के लिए जंग, एक्सरे और अल्ट्रासाउंड वाले मरीज भी तंग

केस-एक:प्रशांतशुक्लाकोअपनाब्लडग्रुपजाननाथा।पर्चालेकरडाक्टरकेपासगए,लाइनमेंलगेऔर11बजेलैबपहुंचगए।10मिनटबादबतायागयाकिसैंपलसिर्फ11बजेतकहीलियाजाताहै।काफीमान-मनौव्वलकेबादआधेघंटेबादआखिरजांचकीगई।

केस-दो:सतीशवर्मा11:10परलैबपहुंचेथे।डा.प्रांशूअग्रवालनेजांचलिखीथी।लैबमेंजवाबमिलाकीदेरहोगईहै।11बजेतकआनाथा,पर्चेपरभीसमयलिखाहै।

केस-तीन:मछरेहटाकेकेसरामेंरहनेवालेमनोजकाएक्सीडेंटहोगयाथा।उनकेसिरऔरहाथमेंपट्टीबंधीथी।एकघंटेसेअधिकसमयसेएक्सरेकक्षकेबाहरखड़ेथे।इंतजारकेबादभीएक्सरेनहींहुआतोबाहरकरानेकेलिएचलेगए।

संसूसीतापुर:अगरआपजिलाअस्पतालकीपैथालाजीमेंजांचकरानेआएहैंतोसमयलेकरआइए।इंतजारकरनापड़सकताहै।औरहां,लंबीलाइनमेंइंतजारकेबादभीआपकीजांचहोजाएगी,इसकीगारंटीनहींहै।लाइनमेंलगेहुए11बजगए,फिरतोजांचहोनासौभाग्यऔरकर्मचारियोंकीमेहरबानीपरनिर्भरहैं।लैबकेकर्मचारीलंबीलाइननहीं,घड़ीकीसुईदेखतेहैं।यहहालपैथालाजीकाहीनहींअल्ट्रासाउंडऔरएक्सरेकाभीहै।एक्सरेकेलिएभीमरीजयहांसेवहांभटकतेनजरआए।

बोलेमरीजऔरतीमारदार,बहुतदेरसेकररहेहैंइंतजार

बाइकफिसलगईथी।डाक्टरनेएक्सरेकरानेकोकहाहै।एकघंटेसेखड़ेहैं,कोईपूछनेवालानहींहै।-मनोजकुमार,केसरा

करीबएकघंटेकासमयहोगयाहै।पर्चाजमाहै,बतायागयाकिबाहरइंतजारकरो।तबसेइंतजारकररहे।-राघवेंद्र,कमोलिया

अल्ट्रासाउंडकरानाहै।दोघंटाहोगयाहै।गेटकेबाहरबैठेहैं।अभीतकडाक्टरनहींआए।बहुतदिक्कतहै।-भूपराम

अल्ट्रासाउंडकेलिएलाइन,डाक्टरगायब

अल्ट्रासाउंडकक्षकेबाहरखड़ेश्रीरामबहुतगुस्सेमेंथे।बतायाकिसुबहआएथे।11:30होगयाडाक्टरहीनहींहैं।मेरानंबरभीपीछेकरदिया।कईअन्यमरीजभीलाइनमेंलगेथे।

पैथालाजिस्टकोनहींथीजानकारी

जिलाअस्पतालकीपैथालाजीमेंमौजूदपैथालाजिस्टपीसीविश्वकर्माकोप्रतिदिनहोनेवालीजांचोंकीजानकारीनहींथी।उन्होंनेबतायाकियहतोराजारामहीबताएंगे।

अस्पतालमेंहोतीइतनीजांचें

-150से200मरीजजांचकेलिएआतेहैं।

-01पर्चेपरपांचसे10तकजांचहोतीहैं।

-1500से2000जांचकीजातीहैप्रतिदिन।

-50से60जांचअस्पतालमेंभर्तीमरीजोंकीहोतीहैं।

पैथालाजीमेंनियमितजांचहोरहीहैं।जांचवएक्सरेकीरिपोर्टभीलीजातीहै।मरीजबढ़ेहैं,इसवजहसेभीड़होगी।पताकराएंगे।

-डा.आरकेसिंह,सीएमएसजिलाअस्पताल