जाम व गड्ढों में घिसट रही जिदगी

सुलतानपुर:मैंसुलतानपुरहूं।भगवानरामकेपुत्रकुशनेमुझेबसायाथा।कभीमुझेकुशभवनपुरभीकहतेथे।अवधनगरीसेमेरागहरानाताहै,लेकिनमेरीभीदुर्दशावहीहैजोअयोध्यामेंतंबूकेनीचेगुजाराकरतेभगवानरामकी।वहपूरीदुनियाकेपालकहैं।फिरन्यायकेलिएसुप्रीमकोर्टकीदहलीजपरहैं।मेरीउम्रकईसौसालहोचुकीहै।सबकोमैंनेशरणदी,लेकिनहरकोईमेरीदुर्दशाकरतागया।आजमैंबेतरतीबमकानों,दुकानोंएवंअतिक्रमणकीफांसमेंजकड़ाहूं।मेरीसड़करूपीगड्ढायुक्तभुजाएंजख्मीहैं।जबगड्ढेकीचपेटमेंचोटिलहोताहैयाजानगंवाबैठताहैतोमेरेआंसूथमतेनहीं,लेकिनमैंबेबसहूं।मेरीहालतआइसीयूमेंआखिरीपलकाइंतजारकरतेमरीजकीतरहहै।भ्रष्टाचारकेदलदलमेंफंसेपालिकासेलेकरप्रशासनवजनप्रतिनिधिरूपीडॉक्टरमुझेआइसीयूसेबाहरनहींनिकालनाचाहते।लोगभीमेरीमददनहींकररहे।शहरकेइसीदर्दपरदैनिकजागरणनेचौपालकी..

इंडियनइंडस्ट्रियलएसोसिएशनकेचेयरमैनप्रवीन्द्रभालोठियानेकहावर्तमानसरकार,जनप्रतिनिधि,नगरपालिकावप्रशासननेइसओरध्याननहींदिया।बड़े-बड़ेमॉलभीबने,लेकिनकहींपार्किंगकीव्यवस्थानहींहै।इसवजहसेभीषणजामलगताहै।बसअड्डेकोभीशहरसेबाहरलेजानाचाहिए।अनिलबरनवालभीप्रवीन्द्रकीबातसेइत्तेफाकरखतेहैं।वहकहतेहैंकिइसबारजोसांसदजीतेउन्हेंध्यानदेनाचाहिए।दिलीपअग्रवालनेकहाकिरोजानाहजारोंनएवाहनोंकारजिस्ट्रेशनहोरहाहै,लेकिनइन्हेंखड़ेकरनेकीजगहनहींहै।सारथीकसौधननेकहाजोमालबनरहेहैंवहदिखातेतोहैंकिपार्किंगसुविधाहै,लेकिनउसमेंदुकानेंबनाकरबेचलेतेहैं।देवीप्रसादसोनीनेकहाकिजनप्रतिनिधिजीतनेकेबादपांचसालतकमौजकरताहै।पहलीजिम्मेदारीनगरपालिकाकीहैकिवहप्लानतैयारकरे।नगरपालिकापुलिसपरआरोपलगातीहैऔरपुलिसपालिकापर।पैसालेकरअवैधनिर्माणकरवाएजातेहैं।पार्किंगनहींहोनेसेलोगसड़कपरवाहनखड़ाकरदेतेहैं।कमलसेठभीकहतेहैंकिपालिकाकेलोगपैसालेकरअवैधवमानकहीनबिल्डिगबनवातेहैं।दिनेशचौरसियानेकहाकिलोगभीजिम्मेदारहैं।काम्पलेक्समेंदुकानेंखरीदतेहैं,लेकिनयहक्योंनहींसोचतेकिगाड़ीकहांखड़ीकरेंगे?गोबर्धनकनोडियानेकहाकिजनसंख्याऔरवाहनलगातारबढ़रहेहैं।नगरपालिकावजनप्रतिनिधिइसओरध्याननहींदेते।अरुणश्रीवास्तवनेकहाकिशासनलापरवाहहै।पार्किंगनहींहैतोवाहनकहांखड़ाकियाजाए?विनोदलोहियानेकहाकिस्थानीयप्रशासनवपालिकानेपार्किंगकीकोईव्यवस्थानहींकी।वहसिर्फचालानपरध्यानदेतेहैं।दिलीपगुप्तानेकहाकिकईबारसंबंधितविभागोंकोपार्किंगकेलिएपत्रलिखागया,लेकिनकुछनहींहुआ।पल्लवखेताननेकहाकिगांवोंकोजिलामुख्यालयसेजोड़नेवालीज्यादातरसड़केंगड्ढायुक्तहैं।लोगगिरकरचोटिलहोतेहैंयाअपनीजानगवांबैठतेहैं।उमाशंकरकसौधननेकहाकिदुकानदारपटरीपरअपनीदुकानेंलगातेहैं।पुलिसभीउनसेपैसालेतीहै।इससेजामलगताहै।विवेकसिंहनेकहाकिगड्ढायुक्तसड़केंग्रामीणवतहसीलक्षेत्रोंमेंहैं।शहरमेंअवैधटैक्सीस्टैंडसेजामलगताहै।ओमप्रकाशमिश्रानेकहाठेलेवालेसड़कतकदुकानलगातेहैं,उनकाकोईचालाननहींकाटता।बाबाराधेश्यामसोनीनेकहाकिपटरीपरदुकानदारोंकेअतिक्रमणसेपैदलचलनामुश्किलहोगयाहै।नीरजअग्रवालनेकहाकिप्रशासनमेंइच्छाशक्तिकीकमीहै।पार्किंगबनजाएतोकाफीहदतकसमस्यासुलझजाएगी।दिलीपबरनवालनेकहाकिबैंकोंकेपासभीपार्किंगनहींहै।