जाखड़ परिवार की तीसरी पीढ़ी आई सियासत में

राजनरूला,अबोहर:पहलेदादाबलरामजाखड़,फिरतायासज्जनजाखड़वचाचासुनीलजाखड़केबादअबजाखड़परिवारकीतीसरीपीढ़ीसियासतमेंआईहै।सुनीलजाखड़केभतीजेसंदीपजाखड़विदेशमेंपढ़ाईकरनेऔरवहांकार्पोरेटकीदुनियामेंकामकरनेकेबादचुनावमैदानमेंअपनेचाचाकीजगहउतरेवजीतहासिलकरराजनीतिमेंकदमरखलियाहै।

साल2017तकतीनबारचुनावजीतनेकेबादजबसुनीलजाखड़अबोहरसीटसेहारेथेतभीसेसंदीपजाखड़नेशहरकानक्शाबदलनेकेलिएकामकरनाशुरूकिया।अबोहरमें1972सेलेकर2022तक11बारचुनावहुए।इनमेंआठबारजाखड़परिवारकाकब्जारहाहै।साल1972व1977मेंडा.बलरामजाखड़,1980,1992मेंसज्जनकुमारजाखड़,2002,2007और2012मेंसुनीलजाखड़इससीटपरविजयीरहेहैं,जबकिपिछलीबार2017मेंसुनीलजाखड़चुनावहारगएथेवउसकेबादसंदीपजाखड़नेयहांकामकरनाशुरूकियावइसबारयानि2022मेंसंदीपजाखड़चुनावमेंउतरेवजीतहासिलकी।भाजपाकोइससीटपरतीनजीतहासिलहुईहै।साल1985मेंअर्जुनसिंहसियाग,1997मेंरामकुमारगोयलव2017मेंअरुणनारंगयहांसेचुनावजीतेहैं।

अबोहरमेंलगातारचौथीबारबनाविपक्षकाविधायकसंवादसहयोगी,अबोहर:विधानसभाहलकेअबोहरकोलगातारचौथीबारविपक्षकाविधायकमिलाहै।इसबारफिरअबोहरविधानसभाक्षेत्रसेकांग्रेसकेउम्मीदवारसंदीपजाखड़विजयीहुएहैंलेकिनपंजाबमेंसरकारआमआदमीपार्टीकीबनरहीहै,जिसकारणअबोहरसेजीताविधायकविपक्षकाहीहोगा।

इससेपहले2007मेंअबोहरसेकांग्रेसकेसुनीलजाखड़जीतेथे,लेकिनसरकारशिअद-भाजपाकीगठबंधनरही।इसकेबाद2012मेंफिरसेचुनावहुएतोयहांसेकांग्रेसकेसुनीलजाखड़जीतेलेकिनइसबारभीराज्यमेंसरकारशिअद-भाजपागठबंधनकीबनगई।इतनाहीनहींतीसरीबार2017मेंफिरसेहुएचुनावमेंअबोहरविधानसभाक्षेत्रकेलोगोंनेभाजपाकेउम्मीदवारअरुणनारंगकोविधायकबनादिया,लेकिनइसबारविधायकभाजपाकाबनातोराज्यमेंसरकारकांग्रेसकीबनगई।लेकिनअबोहरकेवोटरोंनेपिछलेतीनबारीकाइतिहासखत्मनहींहोनेदियाऔरइसबारभीअबोहरमेंविपक्षकाहीविधायकबनाहै।