इस गांव को नहीं मिला एक भी शौचालय

डुमरियागंजब्लाकक्षेत्रकेग्रामपंचायतजिमड़ीकाबड़हरागांवमूलभूतसुविधाओंकोतरसरहाहै।मुख्यमार्गकेदोनोंतरफगंदगीफैलीरहतीहै।तोनालीकीगंदगीग्रामीणोंकोखुदसाफकरनीपड़तीहै।दर्जनोंगरीबआवासयोजनाकालाभपानेसेवंचितहैं,तोशुद्धपेयजलकीसमस्यागंभीरबनीहै।आश्चर्ययहहैकिइसगांवमेंकिसीकोभीशौचालयकीसुविधाप्रदाननहींकीगईहै।जिसकेकारणलोगखुलेमेंशौचकरनेकोमजबूररहतेहैं।

यहांमहिलाआरतीहाथसेनालीसाफकरतीदिखाईदी।बगलमेंसोनारीदेवीनेकहाकिजलनिकासीकीव्यवस्थानहोनेसेपानीजामरहताहै।चन्द्रावतीदेवीकहतीहै,किगड्ढेकापानीबाल्टीमेंभरकरफेंकनापड़ताहै।सोनमतीदेवीनेसड़ककेदोनोंतरफगन्दगीकेवजहकोगांवमेंकिसीपासशौचालयनहोनाबताया।बुजुर्गश्यामलालकोपेंशन,आवास,शौचालयकुछभीनहींमिलाहै।63वर्षीयदयारामसीमेंटकेशेडमेंकिसीतरहसेजिदगीकाटरहेहैं।बसलेश्वरवरमावतीदेवीकीयहीकहानीहै,नतोआवासहै,नहीशौचालय।25घरोंवालेइसडीहकीसंख्याकरीब250है।जोविकासकेमामलेमेंपूरीतरहसेअछूताहै।

ग्रामप्रधानअब्दुलअजीजनेकहाकिग्रामपंचायतकेदोअन्यडीहसोनबरसा,नौवागांवमेंपात्रोंकोशौचालयदिएगएहैं।बड़हरामें20शौचालयव4आवासकेप्रस्तावभेजेगएहैं।

बीडीओसुशीलकुमारअग्रहरीनेकहाकिजोभीसमस्याएंहैं,उन्हेंचुनावकेबादप्राथमिकताकेआधारपरदूरकराईजाएंगी।