इस दीपावली चाइनीज झालर नहीं गेंदे के फूलों से सजाइए घर-आंगन

दीपबोरा,रानीखेत:दीपावलीपरचीनसेआनेवालेसजावटीवइलेक्ट्रानिक्सआइटमकेप्रतिलोगोंकाक्रेजअबकमहोरहाहै।स्वदेशीकोबढ़ावादेनेकेमकसदसेशीतलाखेतकेयुवाओंनेचाइनीजआइटमकाविकल्पतलाशस्वरोजगारकीराहभीदिखाईहै।ग्रामीणोंनेभीइसदीपावलीघरोंकेद्वार,आंगनवमंदिरोंकोचाइनीजझालरोंकेबजायअपनेखेतोंमेंउगेगेंदेकेविभिन्नकिस्मोंकेफूलोंसेसजानेकीठानीहै।यहीनहींमटीलावसूरीकेग्रामीणोंकीउपजअल्मोड़ाकीछोटीफूलमंडीमेंहाथोंहाथबिकरहीहै।

टूरिस्टस्पाटशीतलाखेतसेलगेमटीलावसूरीगांवकेयुवाओंनेदोमाहपूर्वहीदीपावलीकोपारंपरिकअंदाजमेंमनानेकीतैयारीकरलीथी।मटीलाकेचंदनसिंहभंडारी,प्रतापसिंहवदीपकसिंहभंडारीनेकरीबदोहेक्टेयरमेंसब्जीउत्पादनकेबजायगेंदेकेबीजबोए।अबफूलतैयारहोगएहैं।यहांकागेंदाअल्मोड़ाबाजारमेंधाकजमारहाहै।इनकीअबतक15से20हजाररुपयेकीआयभीहोगईहै।लोगभीचाइनीजमालाओंकीबजायताजेखिलेफूलोंकोखरीदनेमेंदिलचस्पीलेरहे।रानीखेतकेहीसूरीगांवकीबबलीपरिहारभीग्रामीणोंकोत्योहारीसीजनमेंफूलोंकीखेतीकरप्रेरितकररहीहैं।उन्होंनेदोनालीभूमिमेंगेंदेकेफूलउगाएहैं।

अन्यगांवोंमेंभीजगाएंगेअलख

मटीलाकेचंदनवप्रतापकहतेहैं,पहाड़मेंसंभावनाएंबहुतहैं।अपनीमाटीसेजुड़सब्जीउत्पादनकेसाथफूलोंकीखेतीस्वरोजगारकाबेहतरजरियाबनसकतीहै।सूरीगांवकीबबलीकहतीहैंकिवहअन्यगांवोंमेंभीलोगोंकोसब्जीवअन्यफसलोंकेसाथफूलउगानेकोप्रेरितकरेंगी।जिलाउद्यानअधिकारीत्रिलोकीनाथपांडेयनेबतायाकियहबेहतरीनप्रयासहै।हमकिसानोंकोप्रोत्साहितकरबीजउपलब्धकरारहेहैं।फूलोंकीखेतीकमखर्चपरअच्छाफायदादेतीहै।अच्छीपहलहै।स्वरोजगारकेसाथआयकेसाधनबढ़ेंगे।