इस बार भी पेयजल संकट से नहीं मिलेगी निजात

सुलतानपुर:इसगर्मीमेंभीलोगोंकोपेयजलकेलिएभटकनाहोगा।कारणहैंडपंपोंकीस्थितिपहलेसेजर्जरहै।अमृतयोजनाकेतहत21.40करोड़कीलागतसेगृहपेयजलसंयोजनकाकामअधूराहै।

सवालाखकीआबादीवालीनगरपालिकामेंपानीकीआपूर्तिकीजिम्मेदारीजलकलविभागकीहै।भूमिगतजलहीइसकास्त्रोतहै।इसआपूर्तिकाआधारभूतढांचाजलनिगमतैयारकरताहै।इसकेअनुरक्षणऔरसंचालनकीजिम्मेदारीजलकलकीहै।इसदोहरीव्यवस्थाकाखामियाजाआमजनझेलतेहैं।इसीकापरिणामहैकिसामंजस्यकेअभावमेंजलनिगमकीओरसेचलरहीकार्ययोजनापर25फीसदकामअबभीअधूराहै।

जर्जरपाइपलाइनबाधक:

शहरकीपुरानीजर्जरपाइपलाइनोंऔरनिष्प्रयोज्यओवरहेडटैंकोंकीवजहसेआपूर्तिका30प्रतिशतपानीबर्बादहोताहै।ऐसेमेंमानककेअनुरूपशहरमें12.56एमएलडी(मिलियनलीटरप्रतिदिन)केस्थानपरसिर्फ9.21एमएलडीपानीकीआपूर्तिहोरहीहै।शहरकेनवविकसितरिहायशीक्षेत्रोंविनोबापुरी,निरालानगर,ओमनगर,औरदरियापुर,सीताकुंडवार्डनदीवनालोंकेकिनारोंपरआबादहोनेसेलोगपेयजलसंकटसेजूझतेहैं।

हस्तांतरितनहींहुईव्यवस्थाएं:

अमृतयोजनाकेतहतशहरमें105.113किमीपाइपलाइनकाविस्तारकियाजानाहै।यहकामअभीपूरानहींहुआहै।73.70किमीपाइपडालीगईहै।कार्ययोजनाकेपूराहोनेसेयहअपेक्षाकीजासकतीहैकितकरीबनआधेशहरकीजलापूर्तिठीकहोजाएगी।विवेकानंदनगर,सेनानीबिहार,दीवानीचौराहावनिरालानगरमेंस्थापितटंकियांपूरीक्षमतासेनहींचलरहीहैं।जलकलविभागकाआरोपहैकिइनकाअबतकहस्तांतरणभीनहींकियागयाहै।

हैंडपंपभीदेंगेदगा

भूजलकादोहनजारीरहनेऔरइसकोसंरक्षितकरनेकेउपायनहोनेसेगर्मीमेंहैंडपंपभीदगादेतेहैं।निजीस्तरपरव्यक्तिगतसंसाधनोंसेभूजलकादोहनरोकानहींजारहाहै।ऐसेमेंपेयजलकीसमस्याआमजनकेलिएपरेशानीकासबबबनतीहै।जिलेस्तरपरवर्षाजलसंचयनऔरगिरतेभूजलकोबचानेकीदिशामेंसार्थकपहलतकनहींकीगईहै।

ग्रामीणवशहरीक्षेत्रमेंपेयजलउपलब्धतापरकार्यहोरहेहैं।संक्रमणकेदौरानयोजनापरकार्यप्रभावितथा।उम्मीदहैकईकामअप्रैलतकपूरेकरलिएजाएंगे।

-आरएसयादव,अधिशासीअभियंताजलनिगम