Initiative : हौसले से भरी उड़ान, बच्चों के चेहरे पर बिखेर रहीं मुस्कान Aligarh news

राजनारायणसिंह,अलीगढ़:दुनियामेंतमामऐसेलोगहैं,जिनकेपाससाधनवसुविधाएंनहींहैैं,मगरहौसलेकीउड़ानसेनईमंजिलतयकीऔरकीर्तिमानबनाया।गांधीनगरकीसुधांशीगुप्ताकेभीहौसलेकुछऐसेहीहैं।एमकॉमकेबादवेनिकलगईंझुग्गी-झोपड़ीकेबच्चोंकोपढ़ाने।कदमअकेलेबढ़ाएंथे,मगरकारवांबनताचलागया।अबउनकीटीममें150साथीजुड़गएहैं,जोझुग्गी-झोपड़ीकेबच्चोंकोपढ़ातेहैं।आपसमेंपैसेएकत्रकरबच्चोंकेलिएस्टेशनरी,खिलौनेआदिकीव्यवस्थाकरतेहैं।

मातापिताकोबेटीपरगर्व

गांधीनगरकेविनोदकुमारगुप्तावउनकीपत्नीनिर्मलगुप्तामूर्तिकाकामकरतीहैं।उनकीबड़ीबेटीसुधांशीगुप्ताकाबचपनसेसेवाकार्यकीओरझुकावथा।सुधांशीने2020मेंएमकॉमकिया।फिरनिर्णयलियाकिवेझुग्गी-झोपड़ीऔरमलिनबस्तियोंमेंजाकरगरीबबच्चोंकोपढ़ाएंगी।सितंबरमेंउन्होंनेअकेलेघरसेकदमनिकालाऔरपलारोडपरभगवाननगरबस्तीमेंबच्चोंकोपढ़ानेपहुंचगईं।

मुश्किलोंकाकरनापड़ासामना

सुधांशीबतातीहैंकियहांबच्चोंकोपढ़ानेकेलिएकोईराजीनहींथा।बच्चेकबाड़आदिबीनकरपैसेलातेथे,इसलिएअभिभावकउन्हेंपढ़ानानहींचाहरहेथे।सुधांशीनेहिम्मतनहींहारी।दोबच्चोंसेपाठशालाकीशुरुआतकी।15दिनतकबच्चोंकोटॉफी,बिस्किटदेकररोकेरखा।इसकेबादऔरबच्चेपढऩेकेलिएआनेलगे।

बढ़तागयादायरा

फिरखुशियोंकीहेल्पलाइननामसेसंस्थाकागठनकियाऔरबच्चोंकोपढ़ानाशुरूकरदिया।वाट््सएप,फेसबुकवइंस्टाग्रामपरबच्चोंकीतस्वीरेंडालनीशुरूकरदीं।इससेतमामछात्र-छात्राएंजुड़गए।सभीनेसुधांशीकेकामकोसराहाऔरबच्चोंकोपढ़ानेकासंकल्पलिया।सुधांशीबतातीहैंकिचारमहीनेमेंउनकीसंस्थासे150साथीजुड़गए।सभीबच्चोंकोपढ़ानेलगे।अबभगवाननगर,सासनीगेटऔरसूतमिलचौराहापरबच्चोंकीपाठशालालगरहीहै।करीब100बच्चेपढ़रहेहैं।

चेहरेपरबिखरेमुस्कान

टीमकेसभीसदस्यपढ़ाईकरतेहैं।वेजेबखर्चसे20-30रुपयेबचाकरबच्चोंकेलिएएकत्रकरतेहैं।इन्हींपैसोंसेस्टेशनरी,टॉफी,बिस्किटआदिआतेहैैं।सुधांशीबतातीहैंकिगांवोंमेंईंटभट़ठोंपरभीपहुंचकरउनकीटीमबच्चोंकोकपड़े,भोजनआदिबांटचुकीहै।टीममेंशिवमसैनी,नितिनवर्मा,राहुलकुमार,अनुष्का,डिम्पीसबसेबड़ीताकतहैं।यहशुरुआतीदौरसेजुड़ेथे।