इन योग क्रियाओं से खुद को रखते हैं फिट, पिछले आठ साल नियमित कर रहें योग Meerut News

मेरठ,जेएनएन।योगएकऐसीक्रियाहैजिसकेकरनेसेकोईसाइडइफेक्टनहींहोताहै।इसमेंकोईखर्चभीनहींआताहै।योगकेअभ्याससेमानसिकऔरशारीरिकविकारपूरीतरहसेदूरकियाजासकताहै।शरीरमेंस्फूर्तिरहतीहै।कोविड-19सेलोगोंनेयोगकेमहत्वकोसमझा।अपनीदिनचर्यामेंयोगकोशामिलकिया।वहींकुछऐसेलोगहैंजोयोगकेमहत्वकोबहुतपहलेसेजानतेहुएनियमितरूपसेयोगकरतेहैं।मेरठकेव्यवसायीदीपकअग्रवालपिछलेआठसालसेयोगकाअभ्यासकरतेरहेहैं।योगसेउन्होंनेखुदकोपूरीतरहसेस्वस्थरखाहै।

नियमितयोगकाअभ्यास

दीपकअग्रवालसुबहजल्दीउठनेकेसाथरातमेंजल्दीसोनेकाभीप्रयासकरतेहैं।सुबहकीशुरुआतवहयोगाभ्याससेहीकरतेहैं।एकघंटेतकवहयोगऔरअभ्यासकोदेतेहैं।उनकाकहनाहैकीयोगसेवहपूरीतरहसेफिटहैं।हरतरहकीशारीरिकक्रियाओंमनोविकारसेवहयोगकेजरिएहीबचसकें।कईतरहकेयोगहोतेहैं,जिसेअपनीसुविधाकेअनुसारकियाजासकताहै।वहबतातेहैंकियोगकाअभ्यासकभीभीकियाजासकताहै।जबभीसमयमिलेयोगकाअभ्यासजरूरकरनाचाहिए।

योगासनमेंबहुतसारीक्रियाएंहैं।इसमेंएकआसानहैचक्रासन।इसआसनकोकरनेसेव्यक्तिएकतरहसेबुढ़ापेकोजीतसकताहै।इसआसनसेरीढ़कीहड्डीपरसीधाप्रभावपड़ताहै।शरीरमेंइसकीवजहसेलचीलापनरहताहै।शरीररबड़केसमानहोजाताहै।इसआसनकाअभ्यासधीरे-धीरेकरनाचाहिए।योगप्रशिक्षकोंकेअनुसारचक्रासनमेंजमीनपरपीठकेबललेटकरदोनोंपैरोंकोसटाकरजमीनपररखतेहैं।

फिरदोनोंहाथकिदोनोंहथेलियोंकोकंधोंकेपीछेरखतेहैं।इसकेबादशरीरकाबीचकाहिस्साकोऊपरउठादेतेहैं।शरीरकापूराभारहाथोंपररहताहै।इसकेअलावाएकधनुरासनजोपेटकेबललेटकादोनोंपैरोंकोघुटनोंसेमोड़करकियाजाताहै।यहआसनजिसकेकमरमें,गर्दनमेंदर्दहोउसकेलिएबहुतउपयोगीहोताहै।पेटमेंअगरबहुतचर्बीहो,कब्जहोतोयहआसनउपयोगीहोगा।मधुमेहकेरोगियोंकेलिएभीधनुरासनरामबाणहै।