होली की उमंग पर महंगाई की मार

होलीकीउमंगपरमहंगाईकीमार

संवादसहयोगी,रेलपार:होलीमेंअबपांचदिनबांकीरहगएहैंऐसेमेंबाजारनेअपनीतैयारीभीपूरीकरलीहै।रंगगुलालकीबिक्रीतोअभीसेशुरूहोगईहै।क्योंकिहोलीसेपहलेजगह-जगहहोलीमिलनसमारोहमनाएजारहेहैं,जिसमेंजमकरलोगरंगगुलालखेलतेहैं।इसबारकोरोनाकमजोरहोनेकेकारणजमकरहोलीखेलनेकीप्लानिंगभीलोगकररहेहैं।अभीसेलोगहोलीकेदिनकाइस्टीमेटतैयारकररहेहैं।दोसालसेलोगोंनेकायदेकीहोलीनहींमनाईथी।शांतिपूर्वकहोलीहोइसकेलिएभीलोगविचारकररहेहैं।लेकिनइसबारआसनसोलमेंहोलीकारंगकुछज्यादाहीगाढ़ाहोगा।क्योंकिहालमेंनगरनिगमकेचुनावहुएहैंऔरइसमेंजीतनेवालेप्रत्याशियोंनेउमंगोंकाएकअंशहोलीकेलिएछोड़दियाहै।उधरदूसरीओरआसनसोललोकसभाउपचुनावकीभीघोषणाहोगईहै।नामांकनकेदौरानहीहोलीमनाईजाएगी।इसलिएहोलीइसबारराजनीतिकेरंगोंमेंभीखूबनहाएगी।लेकिनयहांएकसबसेबड़ीबातयहहैकिग्राहकोंकेइंतजारमेंबाहेंफैलाएबैठाबाजारचिंतामेंडूबाहुआहै।महंगाईनेकईग्राहकोंकोरोकदियाहै।हालांकिबाजारमेंरंगअबीरगुलालहोलीकीपिचकारीतरह-तरहकेमुखौटे,रंगीनटोपियांआदिकीबिक्रीशुरूहोगईहै।

कहतेहैंदुकानदार:बड़ाबाजारमेंहोलीकेसामानकेविक्रेतादुकानदारराजूसोनकर,अनिलसावतथासुनीलसावकाकहनाहैकिइसबारहोलीमेंकमग्राहकआरहेहैं।कोलकातासेमालनहींआरहाहै।सभीमालनईदिल्लीसेआतेहैंमार्केटमेंमांगकमहोनेकेकारणबिक्रीपरभीअसरपड़ाहै।महंगाईकीमारभीएकबड़ाकारणहैलोगजेबसेपैसेनिकालनानहींचाहतेहैं।उत्साहकीकमीहैपूर्वमेंहोलीसप्ताहपंद्रहदिनपूर्वशुरूहोजाताथालेकिनअबदेखनेकोनहींमिलताहै।हालांकिअभीहोलीमेंचारपांचदिनकीदेरहै।उन्होंनेबतायाकिरंगीनटोपियां20रुपयेसे50रुपये,विभिन्नतरहकेमास्क50से70रुपये,अबीर10रुपयेसे20रुपयेपैकेट,पिचकारी30सेचारसौरुपयेतक,कृषमास्कतथामुखौटा20से70रुपये,रंगबिरंगेबाल70रुपयेसेलेकर150रुपयेमेंिबकरहेहैं।