होली का धमाल, हर तरफ फागुनी बयार, छत व बाजार गुलजार

-जिधरदेखोउधरहोलियानामाहौल,रंग,अबीर-गुलालवपिचकारियोंसेसजेबाजार

-हंसीठिठोलीकेबीचचिप्स,पापड़,लच्छेवकचरीतैयारकररहींगृहणियां

फोटो:13जागरणसंवाददाता,मीरजापुर:होलीकात्योहारनजदीकआतेहीचारोंतरफलोगोंमेंहोलीकीखुमारीदिखाईपड़नेलगीहै।होलीकेगुलालकाखुमारअबफिजाओंमेंपूरीतरहघुलचुकाहै।घरोंमेंभीहोलीकीतैयारीअंतिमचरणमेंपंहुचचुकीहै।बाजारमेंदुकानरंग,अबीर-गुलालवपिचकारियोंसेपूरीतरहसजेहैं।हरतरफफागुनीबयारबहरहीहै।सोमवारकोबाजारमेंबच्चोंकेहाथथामेपरिजनदुकानोंपरचहल-कदमीकरतेनजरआए।आमतौरपरसूनीरहनेवालीछतगुलजारहोगएहैं।घर-घरपापड़,चिप्सवगुझियाबनरहीहै।जिधरदेखोउधरहोलियानामाहौलनजरआनेलगाहै।छतोंपरकहींननद-भाभीतोकहींसास-बहूवदेवरानी-जेठानीहंसीठिठोलीकेबीचचिप्स,पापड़,लच्छेवकचरीतैयारकररहींहैं।होलीकोअभीतीनदिनशेषहैं,लेकिनघरोंमेंइसकीतैयारियांतेजहोगईहै।रंगोंकेत्योहारहोलीकोलेकरबच्चोंमेंगजबकाउत्साहहै।होलीकीखुमारीअबपूरीतरहशबाबपरआनेलगीहै।दुकानोंपरमिठाईकीकिस्मेंमीठेकेशौकीनोंकोआर्किषतकररहींहैं।दूधवालेसेलेकरसब्जीवालेतकहोलीकेग्राहकोंकीडिमांडपूरीकरनेमेंमशगूलदिखाईपड़रहेहैं।बाजारपूरीतरहहोलीकेरंगमेंडूबचुकेहैं।होलीकेत्योहारकोलेकरअबप्रवासीभीधीरे-धीरेघरलौटनेलगेहैं।कानूनवशांतिव्यवस्थाकोलेकरपुलिसभीक्षेत्रोंमेंचक्रमणशीलहै।---

फागगीतोंपरथिरकेछात्र,जमकरउड़ेअबीर-गुलाल

मीरजापुर:नगरकेपांडेयपुरस्थितसंस्कारपब्लिकस्कूलमेंसत्रकेअंतिमदिनहोलीमिलनसमारोहकाआयोजनकियागया।छात्र-छात्राओंनेअबीर-गुलालउड़ाईऔरहोलीगीतोंपरजमकरथिरके।होलीपर्वकोलेकरबच्चोंमेंखासउत्साहनजरआया।एक-दूसरेकोअबीर-गुलाललगाकरहोलीकीबधाईदी।प्रधानाचार्यारीतूभंडारीनेकहाकिहोलीपर्वबुराईपरअच्छाईकाप्रतीकहै।प्रबंधकडा.अनंतराजभंडारीनेबच्चोंकोहर्बलरंगकाप्रयोगकरनेकीसलाहदी।कहाकिरंगलगातेसमययहध्यानदेंकिरंगआंखवकानमेंनपड़े।इसअवसरपरअभिभावकोंनेभीफागगीतोंकेमाध्यमसेबच्चोंकामनोरंजनकराया।इसदौरानबीनाश्रीवास्तव,मनीषश्रीवास्तव,भारतीअस्थाना,रूचिकाशर्मा,प्रियंकागुप्ता,श्रेयाबरनवालआदिथीं।---

खाद्यपदार्थोंपरदिखरहामहंगाईकाअसर

पिछलेहोलीकेमुकाबलेइसबारमहंगाईहै।सबसेज्यादामहंगाखाद्यतेलहै।सरसोंतेलमहंगाहोनेकेकारणलगभगसभीखाद्यवस्तुएंमहंगीहोगईहैं।खाद्यव्यापारीअवधेशमोदनवालनेबतायाकिसरसोंकेतेलकेसाथदाल,बेसनआदिभीमहंगाहोगयाहै।रसोईगैसकेदाममेंभीइजाफाहोगयाथा।लागतज्यादाआरहीहैइसलिएवस्तुएंपिछलेसालकेमुकाबलेमहंगीहै,लेकिनग्राहकोंकीकमीनहींहै।ग्राहकरोजआरहेहैं।---होलीकोलेकरबाजारभीरंगीन,बढ़ीरौनक

होलीकोलेकरबाजारभीरंगीनहोगयाहै।घरोंमेंचिप्स-पापड़,कचरीबनरहीहैतोबाजारसेजमकरखरीदारीहोरहीहै।दुकानदारोंनेभीग्राहकोंकोलुभानेकेलिएपकवानोंकेकाउंटरलगारखेहैं।गृहणीमीरामिश्रानेबतायाकिमेहमानोंकास्वागतपरंपरागतव्यंजनोंकेअलावाआलूसेबननेवालेव्यंजनोंसेकरूंगी।होलीपरपापड़औरचिप्सबनानेकीपरंपराचलीआरहीहै।अबतोबजारोंमेंभीसबरेडीमेडमिलताहै।पापड़-चिप्सबनानेमेंबहुतमेहनतलगतीहैइसलिएसोचतीहूंकिबाजारसेलेलें।