होली आई रे : लोग पसंद कर रहे हैं ईको फ्रेंडली होली खेलना

संजीवमंगला,पलवल

समयलगातारबदलरहाहैतथालोगोंकीसोचभीबदलरहीहै।लोगपर्यावरणकेप्रतिभीसचेतहोरहेहैं।रंगोंकेपर्वहोलीपरलोगअबईकोफ्रेंडलीहोलीहीखेलनापसंदकररहेहैं।होलीमिलनकार्यक्रमोंमेंकुछऐसाहीहोरहाहै।लोगरसायनिकरंगोंकेविकल्पढूंढनेलगेहैं।पानीकीसमस्याकोदेखतेहुएजलसंरक्षणपरजोरदेनेलेगेहैं।कईगैरसरकारीसंगठनभीइसमेंजुटेहैं।येसंगठनअपनेद्वारामनाएजारहेहोलीमिलनसमारोहमेंचंदनवफूलोंसेहोलीखेलरहेहैं।

रसायनिकरंगोंकोहोलीकेबादशरीरसेछुड़ानेमें60से80लीटरपानीखर्चहोजाताहै,जबकिगुलालसेखेलीहोलीमें40-50लीटरपानीऔसतनएकव्यक्तिपरखर्चहोताहै।वहींअगरकुदरतीरंगोंकाइस्तेमालकरें,तोसामान्यतौरपरनहानेमेंजो20लीटरपानीएकबारमेंखर्चहोताहै,वहीखर्चहोगा।इसतरहसीधेरूपसेहमपानीकीबचतकरजलसंरक्षणमेंसहयोगदेंगे।

प्राकृतिकरंगोंसेहोलीखेलकरआनंदकोदोगुनाकियाजासकताहै।परंपरागतरूपसेजंगलोंमेंपायेजानेवालेटेसूकेफ़ूलोंकोउबालकरभीनारंगीकेसरियारंगप्राप्तकियाजाताहै।लालरंगकोबनानेमेंलालगुलाबकीपत्तियोंकोबारीकपीसकरलालगुलालकेरूपमेंउपयोगकरसकतेहैं।दोचम्मचहल्दीकोचारचम्मचबेसनकेसाथमिलाकरउसेपीलागुलालकेरूपमेंउपयोगकियाजासकताहै।वहींगेंदेकेफ़ूलोंकीपत्तियोंकोसुखाकरउसकापेस्टअथवागीलारंगबनायाजासकताहै।दोचम्मचहल्दीपाउडरकोदोलीटरपानीमेंउबालकरगाढ़ापीलारंगबनजाएगा।दोलीटरपानीमें50गेंदेकेफूलोंकोउबालनेपरअच्छापीलारंगप्राप्तहोगा।गुलमोहर,पालक,धनिया,पुदीनाआदिकीपत्तियोंकोसुखाकरऔरपीसकरहरेगुलालकेरूपमेंउपयोगकियाजासकताहै।एकलीटरगरमपानीमेंचुकंदरक्रशकरकेरातभरभिगोकररखें।यहबैंगनीरंगमेंपरिवर्तितहोजाएगा।

मेरेमाता-पितावगांववालेकहतेथेकितूतोहोरीकेदिनपैदाभयो।मैंचंदनसेहोलीखेलनापसंदकरूंगा।मेरीलोगोंसेअपीलहैकिवेभीपानीरहितहोलीखेलकरइसपवित्रत्यौहारकीगरिमाबनाएतथापानीबचाएं।मैंजिलावासियोंकोहोलीकेपावनपर्वकीबधाईभीदेताहूं।

-डा.मनीरामशर्मा,जिलाउपायुक्त,पलवल

मैंहोलीवालेदिनगांवमेंहीरहताहूंतथागांवमेंहोनेवालीचौपाईकार्यक्रममेंशामिलहोताहूं।होलीसाफसुथरीहोनीचाहिए।पानीकीएक-एकबूंदकीमतीहै,मेरीलोगोंसेअपीलहैकिवेहोलीपरजलसंरक्षणकोमहत्वदेतेहुएपानीबचाएं।

-केहर¨सहरावत,विधायकहथीन

होलीआपसीएकताकोमजबूतकरनेवगिलेशिकवेभूलजानेकात्यौहारहै।हमेंइसकीगरिमाबनाकररखनीचाहिए।वैसेतोहोलीबच्चेहीज्यादाखेलतेहैं।हमतोथोड़ा-बहुतरंगलगातेहैं।पर्यावरणकीरक्षाकरनाहमसभीकाकर्तव्यहै।मेरीलोगोंसेअपीलहैकिवेआर्गेनिकरंगोंसेहीहोलीखेलेंतथापानीबचाएं।

-अंजूचौधरी,अतिरिक्तउपायुक्त,पलवल

ईकोफ्रेंडलीहोलीसमयकीजरूरतहै।मैंलोगोंसेअपीलकरूंगाकिवेरसायनिकरंगोंकीबजायप्राकृतिकरंगोंकाप्रयोगकरें।होलीपरपानीबचाकरजलसंरक्षणमेंअपनायोगदानदें।

-देवेंद्रचौहान,उद्यमी

रसायनिकरंगआंखोंवत्वचाकोनुकसानपहुंचातेहैं।प्राकृतिकरंगोंसेहोलीखेलनेकाअलगहीमजाहै।मेरीलोगोंसेअपीलहैकिवेचंदनवफूलोंकीहोलीखेलेंवइसपावनपर्वपरकिसीप्रकारकानशानकरें।

-डॉ.सुनीलचेची,समाजसेवी

होलीप्रेमऔरआपसीभाईचारेकोबढ़ानेवालातैयारहै।इसपररसायनिकरंगोंकेइस्तेमालसेदूसरेकोनुकसानपहुंचसकताहै।इसलिएप्रेमवभाईचारेकोबनाएरखनेकेलिएप्राकृतिकरंगोंवगुलाबसेहोलीमनाएं।

-डॉ.दीपकमंगला,समाजसेवी