हल्की सी बरसात में तालाब बन जाती सड़कें

बहराइच):बहराइच-लखनऊहाइवेसेगांवोंकोजोड़नेवालीसड़केंबदहालहैं।बड़े-बड़ेगड्ढेसड़कोंकीपहचानबनचुकेहैं।यहहालतबहैजबइनमार्गोंपरआवागमनकादबावरोजानाबनारहताहै।हल्कीबारिशमेंहीसड़कोंपरजलभरावकीस्थितिबनजातीहै।बसंता-मकनीपुरवा,बसंतापुरवा-अखनापुरवअन्यगांवोंकोजानेवालीसड़कोंकाअभीतककायाकल्पनहींहोसकाहै।ग्रामीणपरेशानहैंतोजनप्रतिनिधिउदासीनहैं।जनप्रतिनिधियोंवविभागीयअधिकारियोंकीउदासीनतामानीजाएयालापरवाही।इनसड़कोंकाअभीतकनिर्माणनहींहोसकाहै।राहचलनेवालेलोगहताशहीनहीं,निराशभीहैं।लक्ष्मीधरपाठक,राजेंद्रनाथगौड़,चंदनगौड़,हेम¨सहचौहान,दुर्गाप्रसाद,सुग्गनपाठकवमोहितपाठककहतेहैंकिइनसड़कोंकीबदहालीकेबारेमेंअधिकारियोंसेलेकरजनप्रतिनिधियोंकोअवगतकरायागया,लेकिनआश्वासनहीमिलाहै।इलाकेकेलोगोंकाकहनाहैकिसड़कोंकेनिर्माणकेप्रतिचुनावमेंवोटबटोरनेवालेचुनावजीतनेकेबादगंभीरनहींहोतेहैं।वोटकथाकीजापमेंसड़कोंकीबदहालीगुमहोजातीहै।