हिंदी की स्वीकार्यता अंग्रेजी के विकल्प के रूप में होनी चाहिए :अमित शाह

नयीदिल्ली,सातअप्रैल(भाषा)केंद्रीयगृहमंत्रीअमितशाहनेबृहस्पतिवारकोकहाकिहिंदीकीस्वीकार्यतास्थानीयभाषाओंकेनहीं,बल्किअंग्रेजीकेविकल्पकेरूपमेंहोनीचाहिए।केंद्रीयगृहमंत्रालयद्वाराजारीएकबयानकेअनुसार,शाहनेयहांसंसदीयराजभाषासमितिकी37वींबैठककीअध्यक्षताकरतेहुएकहाकिप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेनिर्णयकियाहैकिसरकारचलानेकामाध्यमराजभाषाहैऔरयहनिश्चिततौरपरहिंदीकेमहत्वकोबढ़ाएगा।उन्होंनेसदस्योंकोबतायाकिमंत्रिमंडलका70प्रतिशतएजेंडाअबहिंदीमेंतैयारकियाजाताहै।उन्होंनेकहाकिवक्तआगयाहैकिराजभाषाहिंदीकोदेशकीएकताकामहत्वपूर्णहिस्साबनायाजाए।बयानकेअनुसार,उन्होंनेकहाकिहिंदीकीस्वीकार्यतास्थानीयभाषाओंकेनहीं,बल्किअंग्रेजीकेविकल्पकेरूपमेंहोनीचाहिए।उन्होंनेकहाकिजबतकअन्यभाषाओंसेशब्दोंकोलेकरहिंदीकोसर्वग्राहीनहींबनायाजाएगा,तबतकइसकाप्रचारप्रसारनहींहोपाएगा।गृहमंत्रीनेकहाकिअन्यभाषावालेराज्योंकेनागरिकजबआपसमेंसंवादकरेंतोवहभारतकीभाषामेंहो।शाहनेतीनमहत्वपूर्णबिंदुओंपरजोरदिया।उन्होंनेकहाकिसमितिसेइसकीरिपोर्टकेप्रथमसेलेकर11वेंखंडमेंकीगईसिफारिशोंकोलागूकरनेकेलिएजुलाईमेंएकबैठककरनेकाआग्रहकियागयाहै।शाहनेकहाकिदूसरेबिंदुकेतहतउन्होंनेनौवींकक्षातककेछात्रोंकोहिंदीकाप्रारंभिकज्ञानप्रदानकरनेपरजोरदियाहै।बयानमेंकहागयाहैकितीसरेबिंदुकेतहतगृहमंत्रीनेहिंदीशब्दकोशकीसमीक्षाकरइसेपुन:प्रकाशितकरनेकासुझावदियाहै।शाहनेइसअवसरपरसमितिकीरिपोर्टके11वेंखंडकोराष्ट्रपतिकेपासआमसहमतिसेभेजनेकोमंजूरीदी।